जानिए मूली के फायदे, खाइए और खुश रहिए...

मूली जिससे अंग्रेजी में फ्रेश रेडिश कहा जाता हैं। मूली में ऐसे बहुत से गुण है जिससे लोग अभी तक वंचित हैं। मूली को आमतौर पर सलाद में खाया जाता हैं। लेकिन कुछ लोग मूली के पत्तो की सब्ज़ी भी खाना पसंद करते हैं। यह हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद हैं। साथ ही यह शरीर की पाचनक्रिया में भी मदद करती है मूली में प्रोटीन, कैल्शियम, आयोडीन और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो कि शरीर के लिए बहुत आवश्यक हैं। मूली ज़्यादातर जाड़े के समय खाई जाती हैं। इसके अलावा आइए जानते है मूली के कुछ और फायदों के बारे में।

मूली  में भरपूर मात्रा में डाइटरी फिबेर्स पाया जाता हैं। जो हमारे स्वास्थ्य के लिए भट फायदेमंद है यह हमारे शरीर की पाचनक्रिया को बहतर करती  है और मेटाबोलिस्म की सही गति बनाए रखती हैं। जिससे आंतरिक कार्यों को बेहतर तरीके से करने में मदद मिलती है। इसलिए मूली का सेवन ज़रूर करना चाहिए।

मूली को चारा माना जाता है जिसका मतलब है कि यह अपचनीय कार्बोहाइड्रेट से बनती है। एक अच्छा डिटॉक्सीफायर होने के कारण यह बवासीर के लक्षणों को जल्दी से ठीक करने में मदद करती है। इसका रस पाचन और उत्सर्जन तंत्र को शांत भी करता है जिससे बवासीर के लक्षण दूर होते है।

मूली हमारे शरीर में मूत्र का उत्पादन बढाती है। क्योकि मूली मूत्रवधर्क भी होते हैं। यह किडनी को साफ करता है यह किडनी एवं यूरिनरी तंत्र के संक्रमण को भी रोकता है।

मूली में पानी की मात्रा अधिकांश होती  है और यह आपके शरीर को हाइड्रेटेड रखने का बढि़या तरीका है। मूली हमारे शरीर को हाइड्रेटेड रखने में भी मदद करती है इसका महत्वपूर्ण लाभ पानी का पाचन तंत्र पर प्रभाव है।जो शरीर के विभिन्न भागों के लिए फायदेमंद है।

मूली में एंटी प्रूरिटिक गुण होता है और यह कीड़ों के काटने एवं मधुमक्खी के डंक के लिए प्रभावी उपचार के रूप में प्रयोग की जा सकती है। मूली का ज्यूस दर्द और सूजन भी कम करता है और प्रभावित भाग को आराम प्रदान करता है।

मूली के सेवन से आपकी भूक शांत होती है इससे खाने से मिंट-मिंट में भूक नहीं लगती , यह वजन काम करने वाले लोगो के लिए बहुत अच्छा आहार हैं।

मूली शरीर का तापमान कम करती है और Fever के कारण होने वाली जलन को दूर करती है। इसके सेवन का एक अच्छा तरीका मूली के ज्यूस को काले नमक में मिलाकर लेना है। क्योंकि यह एक संक्रमणरोधी की तरह कार्य करती है इसलिए मूली संक्रमण जो बुखार का कारण हो सकता है, से लड़ती है।

Comments