Lifestyle

ज़ुकाम में न करें किसी दवाई का सेवन

शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसे जीवन में ज़ुकाम न हुआ हो. यह एक ऐसा रोग है जो देर-सवेर सबको अपना शिकार बनाता है. लेकिन आज हम इस लेख के माध्यम से आपको यह बताएंगे कि ज़ुकाम हमारे शरीर के लिए कितना फायदेमंद है और इससे निपटने के लिए दवाईयों का सेवन क्यों नहीं करना चाहिए.

क्या है ज़ुकाम

ज़ुकाम होने का सीधा कारण है - शरीर के तापमान में असंतुलन. हमारे शरीर का एक निश्चित तापमान होता है जिसमें असंतुलन आने या बिगड़ने से हमें ज़ुकाम हो जाता है. यह एक ऐसा रोग है जो हमारी स्वास नली, गले और छाती को प्रभावित कर उनकी निरंतरता पर असर डालता है. इसके अलावा यह नाक की नली को बंद कर देता है जिसके कारण सांस लेने में दिक्कत आती है.

पकने दें ज़ुकाम को

ज़ुकाम से निजात पाने के लिए हम क्या कुछ नहीं करते. तरह-तरह की दवाईयां और नुस्खे प्रयोग में लाते हैं परंतु क्या आप जानते है कि यह सब आपको ज़ुकाम में राहत तो देते हैं परंतु ज़ुकाम से होने वाले फायदों से आप वंचित रह जाएंगे. जी हां, फायदे, ज़ुकाम जहां हमें परेशान करता है वहीं यह हमारे लिए फायदेमंद भी है क्योंकि ज़ुकाम के बाद हमारे शरीर से बलगम निकलने की प्रक्रिया होती है और इस प्रक्रिया के तहर हमारी छाती से महीनों पुराना वात या बलगम निकलना शुरु हो जाता है और यदि हम दवाईयों का प्रयोग करते हैं तो ज़ुकाम तो ठीक हो जाता है परंतु बलगम निकल नहीं पाता और छाती में ही रहता है और भविष्य में नुकसान देता है. तो इसीलिए ज़ुकाम में किसी भी प्रकार की दवाई का इस्तेमाल न करें ताकि ज़ुकाम पूरी तरह पक जाए और हमारी छाती और गले की पूरी तरह से सफाई हो जाए.

दवाई न लें तो करें क्या ?

सिर्फ बिमारी के बारे में बताकर उसका इलाज न बताना बेमानी बात होगी इसीलिए जब भी आपको ज़ुकाम या सर्दी हो जाए तो ऐसी स्थिति में आप कुछ ऐसे तरीके अपना सकते हैं जिससे आपको सर्दी में आराम भी मिलेगा और शरीर में जमा बलगम भी साथ के साथ निकलता रहेगा.

भाप या स्टीम लें

भाप या स्टीम लेना ज़ुकाम के रोग में बहुत आवश्यक है क्योंकि यही एकमात्र ऐसा साधन है जो ज़ुकाम में रोगी की पूरी सहायता करता है. स्टीम लेने से नाक की नली से स्वास नली तक जमा बलगम या वात बाहर आने के लिए आतुर हो जाता है. एक दिन में दो बार यानि सुबह और शाम को स्टीम लेनी चाहिए. इसके अलावा स्टीम लेने के लिए हमेशा तुलसी का ही प्रयोग करें.

गर्म अदरक खाएं

अदरक को हमेशा से ज़ुकाम के लिए बेहतर माना गया है परंतु यदि आप अदरक से छाती और नाक की नली में जमा हुआ बलगम निकालना चाहते हैं तो अदरक को थोड़ी देर आग में जला लें. उसके बाद इसे ठंडा होने छोड़ दें और थोड़ी देर बाद इसे मुंह में रख लें. आप महसूस करेंगे की आपके गले और छाती में जमा हुआ वात बाहर आ रहा है.



English Summary: How to get rid of thunderstorms

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in