आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. लाइफ स्टाइल

Basil Milk: तुलसी दूध पीने से दूर होते हैं ये 5 रोग, ऐसे करें सेवन

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

तुलसी की पत्तियां में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जिसका उपयोग सर्दी, खांसी और जुकाम जैसी बीमारियों से बचने के लिए होता है. तुलसी की पत्तियों से बनी चाय और दूध बहुत लाभकारी माना जाता है. इसके सेवन सर्दी -जुकाम ही नहीं, बल्कि अन्य 5 बड़े रोगों से छुटकारा दिलाता है. आइए आपको बताते हैं कि तुलसी की पत्तियों को दूध में उबालकर पीने से दूर कौन से 5 रोगों का इलाज होता है.

दमा रोग

आगर आप दमा रोग से परेशान हैं, तो दूध में तुलसी की पत्तियों को उबालकर पीएं. इससे दमा रोगियों को काफी लाभ मिलता है.

माइग्रेन

सिर दर्द या माइग्रेन की समस्या में तुलसी वाला दूध पीने से जल्द राहत मिलती है. रोजाना इसका सेवन करने से यह समस्या जड़ से खत्म हो जाती है.

डिप्रेशन

अगर आप ऑफिस की टेंशन ज्यादा लेते हैं या फिर अक्सर तनाव या डिप्रेशन से घिरे रहते हैं, तो दूध में तुलसी की पत्तियों को उबाल पीएं. इससे मानसिक तनाव और चिंताएं दूर हो जाती हैं.

ये खबर भी पढ़े: कब्‍ज के दौरान कभी न खाएं ये 5 फूड, पड़ सकता है पछताना

पथरी

पथरी के मरीजों के लिए तुलसी वाला दूध बहुत लाभकारी होता है. अगर आप इस समस्या से परेशान है, तो रोजाना नियमित रूप से खाली पेट तुलसी वाला दूध पीएं. इससे किडनी की पथरी की समस्या और दर्द, दोंने दूर हो जाएंगे.

रोग प्रतिरोधक क्षमता

तुलसी के पत्तों में एंटीऑक्सीडेंट्स का गुण पाया जाता है, इसलिए इससे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है. इसके अलावा तुलसी के पत्तों में एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण भी होता है, जो सर्दी, खांसी और जुकाम से छुटकारा दिलाते हैं.

ऐसे करें तुलसी दूध का सेवन

  • सबसे पहले दूध में 8 से 10 तुलसी की पत्तियां डालकर उबलने लें.

  • जब दूध एक गिलास रह जाए, तब गैस बंद कर दें.

  • दूध हल्का गुनगुना होने पर पी लें.

  • रोजाना इस दूध का सेवन करने से कई बीमारियों से छुटकारा मिल जाता है.

ये खबर भी पढ़े: इम्युनिटी बूस्टर होती है लीची, सेहत का रखती है खास ख्याल

English Summary: Drinking Tulsi milk cures 5 diseases

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News