Lifestyle

शिमला मिर्च में छुपा है आपके चुस्त और दुरुस्त होने का राज

तुमको मिर्ची लगी  तो में क्या करूँ? यह गाना तो सभी ने सुना होगा. और यह भी सच है की सभी मिर्च कड़वी नहीं होती लेकिन कुछ मिर्च ऐसी भी हैं जो बहुत तीखी होती हैं. मिर्च का अचार बनता है. सलाद में भी मिर्च को डाला जाता है. एक मिर्च ऐसी भी है जिसका नाम है `शिमला मिर्च`. यह उगती भी शिमला में ही है और यह तीन रंगो में आती है. हरी, पीली और लाल. तीनो का स्वाद भिन्न होता है. इसकी सब्जी भी बनती है. स्वाद के इलावा इसका  सेहत बनाने के लिए भी  इस्तेमाल होता है. शिमला मिर्च से क्या कोई सेहत बना सकता है ! क्यों जरूरी है सेहत के लिए शिमला मिर्च?शिमला मिर्च में छुपा है आपके चुस्त और दरुस्त होने का राज.

बेहद खूबसूरत सी दिखने वाली इस सब्जी में विटामिन ए, विटामिन सी, फलेवानाइड्स, अल्कालॉइड्स व टैनिन्स पाए जाते हैं। शिमला मिर्च में मौजूद अल्कालॉइड्स एंटी−इंफलेमेटरी, एनलजेस्टिक व एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है।

जिन लोगों को शिमला मिर्च पसंद नहीं आती है, उन सभी लोगों को इससे जुड़े इन फायदों के बारे में जानकारी नहीं है। शिमला मिर्च के सेवन से आप खुद को लंबे समय तक चुस्त व तंदुरूस्त बनाए रख सकते हैं क्योंकि यह सेहत के लिए बहुत ही लाभकारी है।

दरअसल, शिमला मिर्च में बेहद कम कैलोरी होती है, जिसके कारण इसका सेवन करने से वजन बढ़ने की संभावना काफी हद तक कम हो जाती है।

शिमला मिर्च में पाया जाने वाले फलेवेनॉइड्स कई तरह ही हृदय समस्याओं को दूर करता है। यह पूरे शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई बेहतर तरीके से करता है, जिसके कारण भी आपका दिल रक्त का थक्का जमने या हार्ट पंपिंग में किसी तरह की परेशानी नहीं आती। शिमला मिर्च में विटामिन सी पर्याप्त मात्रा में होता है।

साथ ही यह शरीर के मेटाबॉलिज्म को भी बूस्ट अप करता है, जिसके कारण आपका वेट लॉस प्रोग्रेस काफी तेजी से होता है। यह विटामिन सी इम्युन सिस्टम को बूस्ट अप करने का काम करता है। प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने के साथ−साथ यह डैमेज ब्रेन टिश्यू को रिपेयर करने, ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने, अस्थमा व कैंसर जैसी बीमारियों से भी राहत पहुंचाता है। शिमला मिर्च शरीर में आयरन की कमी को पूरा करने में भी मदद करती है।

शिमला मिर्च एक नेचुरल पेनकिलर की तरह काम करता है। जो लोग इसका सेवन करते हैं, उन्हें जल्दी दर्द का अहसास नहीं होता। दरअसल, शिमला मिर्च में मौजूद पोषक तत्व दर्द को स्पाइनल कॉर्ड तक जाने से रोकते हैं। शिमला मिर्च अतिरिक्त वजन को कम करने में मददगार है।

 

चंद्र मोहन

कृषि जागरण



Share your comments