Lifestyle

पेट के लिए गुणकारी है सौंफ, जानिए सेवन करने का सही तरीका

सौंफ का इस्तेमाल आम तौर पर हर घर में होता है. यह ही नहीं आम दिनचर्या में भी हम सौंफ का इस्तेमाल करते हैं. वहीं आमतौर पर लोग सौंफ का इस्तेमाल खाना खाने के बाद ही करते हैं. सौंफ के कुछ फायदों के बारे में लोगों को आमतौर पर जानकारी होती है. जैसे सौंफ भोजन पचाने में सहायक है, सौंफ के कुछ दानों का नियमित सेवन आखों की रौशनी बढ़ाने में कारगर है. इसके साथ ही सौंफ तनाव कम करके हाइपरटेंशन की बीमारी ने निजात दिलाने में सहायक है. यह सौंफ के कुछ आम फायदे हैं जिनके बारे में लोगों के पास जानकारी होती है. आइये देखते हैं और किस प्रकार सौंफ हमारे लिए भायदेमंद है और किस प्रकार इसका सेवन किया जा सकता है.

सौंफ पेट की सभी समस्याओं के लिए गुणकारी है : सौंफ की मात्रा लें और इसे तवे पर भून कर पीस लें, इसके बाद इसमें पिसी हुई मिश्री मिलाएं और इसका सेवन भोजन के बाद करें ऐसा करने से पाचन क्रिया अच्छी हो जाएगी. इसके अलावा सौंफ में बड़ी इलाइची भी मिलाकर उबाल सकते हैं उसके बाद इस मिश्रण को छान लें और कुछ मात्रा इसमें दूध की मिलाएं और फिर उबालें अब इसका सेवन करने से ज्यादा कारगर होगा.

यदी किसी तरह की पेट की शिकायत है तो वो भींगी हुई सौंफ को नींबू के रस में मिला लें और इसका सेवन भोजन के बाद करें. पेट दर्द से निजात पाने के लिए सौंफ को घी में भूनकर पीस लें और उसमें चीनी मिक्स कर लें इस मिश्रण का सेवन दिन में दो बार करने से लूज मोशन दूर हो जाएगी.

खांसी-जुकाम, गले की खराश के लिए भी सौंफ फायदेमेंद है. मुंह में रखकर इसे चूसते रहे इससे गले में आराम मिलेगा. वहीं एसिडिटी से छुटकारा पाने के लिए सौंफ के अर्क में गुलबनक्शे का शर्बत मिक्स करके पीने से ऐसिडीटी से भी छुटकारा मिलेगा. इसके अलावा नींद नहीं आने की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए सौंफ का काढ़ा बनाकर पिने से काफी लाभ मिलेगा. काढ़ा बनाने के लिए सौंफ में दूध या शहद मिक्स कर लें| इसका सेवन करने से अनिद्रा की समस्या को दूर किया जा सकता है.  

 

कृषि जागरण डेस्क



Share your comments