जहरीला पौधा आक के अविश्वसनीय फायदे

वैसे तो आक को कुछ लोग जहरीला पौधा कहते हैं पर यह सच नहीं क्योंकि इसके चमत्कारी गुणों के बारे में ज्यादा लोगों को पता नहीं है. आइये जानते हैं आक के पौधे के बारे में की यह कीतना कारगर और फायदेमंद है.

आक के लाभकारी गुण:

आक के पत्तों क़ो तेल में हल्का सा जलाकर अपने अंडकोष पर बांधने से उसकी अंधरुनि सूजन दूर हो जाती है जिस से डिलीवरी के समय की पीड़ा से राहत मिल जाती है.

इसके पत्तो क़ो कड़वे तेल में पकाकर लगाने से किसी भी प्रकार का घाव ठीक हो जाता है. इस प्रक्रिया में थोड़ा समय जरूर लगता है पर इसका असर भी उतना ही लाभकारी होता है

आक के पीले पत्तों क़ो घी लगाकर उसको सेककर इसका आर्क क़ो कान में डालने से कान सम्बंधित हर प्रकार की सूजन या फिर किसी भी तरह के दर्द हो वह ठीक हो जाता है यह एक बेजोड़ नुस्खा है.

लकवा की समस्या से जूझ रहे लोग इसका दूध निकालकर उसका फाहा मुंह पर लगाने से लकवा दूर हो जाता है.

अन्य चिकित्सीय उपयोगी उपाय निम्नलिखित हैं:

खांसी सम्बंधित परेशानी से बचाव

आक की जड़ के चूर्ण 2 ग्राम, पुराना गुड़.5 ग्राम, काली मिर्च 3 दाने. इन सभी मिश्रण क़ो पीसकर चने के बराबर गोलिया बना लें और दिन में दो बार लें गर्म पानी के साथ इस से कफ सम्बंधित रोग भी ठीक हो जाते हैं.

फोड़े.फुंसी से भी निजात दिलाता है

आक की जड़ क़ो पीसकर पानी में मिलाने से इस से राहत पाई जा सकती है.

नासूर से भी बचाव दिलाता है

आक की जड़ की राख तथा पीपल की छाल क़ो भस्म नासूर पर लगाने से वह बहुत जल्दी ठीक हो जाता है.

सूजन सम्बंधित समस्या से छुटकारा

आक की जड़ के चूर्ण क़ो दो महीने लगातार खाने से शरीर पर होने वाली समस्या से राहत पाई जा सकती है

प्रमेह जैसे समस्या से बचाव

आक की जड़ के चूर्ण .5 ग्राम, अश्वगंधा का चूर्ण 5 ग्राम, बीज बंद के चूर्ण .3 ग्राम

इन सब चूर्ण क़ो मिला कर शहद के साथ सेवन करने से प्रमेह रोग बहुत जल्द ठीक हो जाता है.

कुत्ते के काटने पर उसके विष से बचाव

आक के दूध 1 ग्राम, काली मिर्च चूर्ण 1 ग्राम इसके मिश्रण क़ो 1 दिन लगातार पीने से कुत्ते के काटने  का विष शांत हो जाता है.

दुखती आंख के दर्द से निजात

आक के दूध अपने पैर की दाया और बाया पैर के अंगूठे पर लगाने से दुखती हुई आंख ठीक हो जाती है

बाल सम्बंधित रोग

सिर हाथ पैर आदि के बाल उड़ गए हो या बाल खोरा हो गया हो वहा पर आक के दूध मलने से बाल उगने की संभावना रहती है इसमें थोड़ा समय जरूर लगता है.

उंगलियों को सड़न से बचाने के लिए फायदेमंद

उंगलियों में खुजली खाज या चोट लग जाने के कारण सड़न पैदा हो जाये तो तिल के तेल में आक के दूध में मिलाकर साथ खुजली से भी निजात पाई जा सकती है.

Comments