MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. बागवानी

Horticulture Crop: फरवरी-मार्च में लगाएं सेब के नए पौधे, दोपहर बाद करें पौधारोपण

बागवानों के बीच बागीचों में नए सेब के पौधे लगाने की चहलकदमी बढ़ गई है. सेब को ज़्य़ादातर ठंडे प्रदेशों में उगाया जाता है, इसलिए बारिश और बर्फ़बारी के बाद अब बागवानों ने बगीचों का रुख़ करना शुरू कर दिया है औऱ सेब के नए पौधों को लगाने की तैयारी में जुट गए हैं. बता दें कि बागवानों के लिए सेब के पौधे लगाने का सही समय फरवरी और मार्च माना गया है.

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Garden apples
सेब के नए पेड़ लगाने से संबधित कुछ ज़रूरी जानकारी

बागवानों के बीच बागीचों में नए सेब के पौधे लगाने की चहलकदमी बढ़ गई है. सेब को ज़्य़ादातर ठंडे प्रदेशों में उगाया जाता है, इसलिए बारिश और बर्फ़बारी के बाद अब बागवानों ने बगीचों का रुख़ करना शुरू कर दिया है और सेब के नए पौधों को लगाने की तैयारी में जुट गए हैं. बता दें कि बागवानों के लिए सेब के पौधे लगाने का सही समय फरवरी और मार्च माना गया है. 

इस दौरान बागवान सेब, पलम, आडू, नाशपाती, खुमानी आदि पेड़ों को लगाते हैं. बता दें कि देशभर में हिमाचल प्रदेश का सेब काफी मशहूर है. इस सेब को देश-विदेश के लोग खूब चाव से खाया करते हैं. बाज़ार में भी सेब की खूब मांग रहती है, इसलिए बागवानों के लिए सेब की खेती किसी वरदान से कम नहीं है. ऐसे में कई बागवान सेब के नए पेड़ लगाना चाहते होंगे, तो बागवानों को सेब के नए पेड़ लगाने से संबधित कुछ ज़रूरी जानकारी देते हैं.

सेब के नए पौधे कब लगाएं (When to Plant New Apple Plants)

विशेषज्ञों की मानें, जो बागवान सेब के नए पौधे लगाना चाहता हैं, उनके लिए फरवरी से मार्च तक का समय उपयुक्त है, लेकिन बागवान सेब के नए पौधों को दोपहर के बाद ही लगाएं. इससे बगीचों में लगाए नए सेब के पौधे को बीमारियों से बचाया जा सकता है, साथ ही सेब के पौधों का तेजी से विकास भी होता है.

इसके अलावा सेब के पौधे आसानी से टिक जाते हैं. बागवान सेब के नए पौधों को लगाने से पहले ध्यान रखें कि पौधों को अच्छी तरह से उपचारित कर लें. जानकारी के मुताबिक, बागवान रेड रॉयल और गोल्डन सेब के पौधे लगाना ज्यादा पसंद करते हैं. इससे किसानों को अच्छी उपज और आमदनी मिलती है.

नए पौधों को उपचारित करें (Treat new plants)

बागवान विशेषज्ञों का मानना है कि सेब के पौधों को उगाने से पहले ब्लाइटॉक्स, कॉपर ऑक्साइटड को आवश्यकता अनुसार लेकर लगभग 200 लीटर पानी में मिलाकर घोल तैयार कर लें.

ये खबर भी पढ़ें:अदरक की फसल को रोग और कीटों से बचाएं, होगा अच्छा मुनाफ़ा

इसके बाद घोल में सेब के पौधों को कुछ देर तक डूबकर रखें. इसके बाद नए पौधों को उगाएं. ध्यान दें कि सेब के पौधों की लगभग 20 लीटर पानी से ही सिंचाई करें.

English Summary: afternoon is the best time to plant new apple plants in february and march Published on: 12 February 2020, 02:33 IST

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News