MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. पशुपालन

पशुओं को मुफ्त में लग रहा ब्रुसेलोसिस का टीका, जानें क्यों जरुरी है इसकी रोकथाम

मध्य प्रदेश केंद्र सरकार के सहयोग से पूरे राज्य में पशुपालकों के लिए सभी गाय-भैंस जैसे मवेशियों का टीकाकरण किया जा रहा है. ऐसे में प्रदेश के वे सभी पशुपालक जिनके पशुओं को अभी तक ब्रुसेलोसिस रोग का टीका नहीं लगाया गया है, वे इस माह यह टीका लगवा सकते हैं. टीकाकरण अभियान के तहत गाय-भैंस नस्ल की सभी मादा बछड़ों का नि:शुल्क टीकाकरण किया जाएगा.

रुक्मणी चौरसिया
रुक्मणी चौरसिया
Free Vaccination for Brucellosis Disease in Animals
Free Vaccination for Brucellosis Disease in Animals

वक़्त के साथ-साथ अब इंसानों के अलावा पशुओं के अंदर भी नयी तरह की बीमारियों ने दस्तक देनी शुरू कर दी है. जी हां, इस बीमारी का नाम "ब्रुसेलोसिस" (Brucellosis) है, लेकिन इस रोग को एक बार टीकाकरण करावा कर रोका जा सकता है, ताकि आगे आने वाले समय में यह बीमारी आपके जानवर को ना लगें. इसी के चलते ब्रुसेलोसिस रोग की रोकथाम (Brucellosis Disease Prevention) के लिए मध्यप्रदेश राज्य में नि:शुल्क टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है.

पशुओं का फ्री टीकाकरण अभियान (Free Vaccination Campaign for Animals)

इस समय मध्य प्रदेश केंद्र सरकार के सहयोग से पूरे राज्य में पशुपालकों के लिए सभी गाय-भैंस जैसे मवेशियों का टीकाकरण (Free Vaccination Campaign in Madhya Pradesh) किया जा रहा है. ऐसे में प्रदेश के वे सभी पशुपालक जिनके पशुओं को अभी तक ब्रुसेलोसिस रोग का टीका (Brucellosis Vaccine) नहीं लगाया गया है, वे इस माह यह टीका लगवा सकते हैं. टीकाकरण अभियान के तहत गाय-भैंस नस्ल की सभी मादा बछड़ों का नि:शुल्क टीकाकरण किया जाएगा.

कब तक चलेगा पशु टीकाकरण अभियान (Last Date of Animal Vaccination Campaign)

यह अभियान 1 जनवरी से 31 जनवरी 2022 तक चलाया जाएगा. यह टीकाकरण राज्य के सभी जिलों, पंचायतों और गांवों में किया जाएगा. यह रोग मुख्य रूप से गर्भवती पशुओं में होता है, जिसके कारण पशुओं का गर्भपात हो जाता है.

बता दें कि संक्रमण के कारण यह रोग फैलता ही रहता है. जिससे पशुपालकों को काफी नुकसान होता है. इसे रोकने के लिए राज्य सरकारों द्वारा समय-समय पर अभियान चलाकर सभी पशुओं का टीकाकरण किया जाता है.

क्या है ब्रुसेलोसिस (What is Brucellosis)

  • यह जानवरों की एक गंभीर संक्रामक बीमारी है जो कि मनुष्यों को प्रभावित करती है.

  • ब्रुसेलोसिस अन्य जानवरों पर भी हमला कर सकता है, लेकिन इसका मुख्य खतरा मवेशियों, बाइसन, गर्भाशय ग्रीवा और सूअर जैसे जानवरों को अधिक रहता है.

  • इस रोग के संक्रमित होने पर गर्भपात, बैंग की बीमारी से लेकर पशु स्वस्थ्य पर गहरा असर पड़ता है.

  • इससे पशुओं के दूध उत्पादन (Animal Milk Production) में कमी आती है.

  • साथ ही वजन कम होना शुरू हो जाता है.

  • इससे पशुओं में युवावस्था में ही हानि होनी शुरू हो जाती है जिसका नतीजा बांझपन और लंगड़ापन होता है.

  • यह रोग पशुओं के लिए एक भयानक खतरा है.

  • बता दें कि यह रोग तेजी से फैल सकता है और मनुष्यों में संचारित होने से यह और भी गंभीर हो जाता है.

ब्रुसेलोसिस कैसे फैलता है (How is Brucellosis spread)

  • Brucellosis आमतौर पर संक्रमित जानवरों के सीधे संपर्क से दूसरे जानवरों में फैलता है.

  • एक संक्रमित जानवर के गर्भपात या बछड़े के बाद सभी संक्रामक आसपास फ़ैल जाते हैं और दूषित हो जाते हैं.

  • यह बीमारी जानवरों से एक झुंड से दूसरे झुंड में ले तेज़ी से फैलती चलती जाती है.

क्या ब्रुसेलोसिस से बचा जा सकता है (Can Brucellosis Be Prevented)

  • उचित स्वच्छता विधियों (Proper Hygiene Methods) का उपयोग करके ब्रुसेलोसिस से बचा जा सकता है.

  • उचित झुंड प्रबंधन प्लान बीमारी से बचने में मदद कर सकता है.

  • अपने पशुओं को दूसरे अन्य पशुओं से ज्यादा ना मिलने दें.

  • अपने पशु झुंड को दूसरे पशु झुंडों से अलग रखें.

English Summary: Animals are getting free vaccine for Brucellosis, know why it is important to prevent it Published on: 25 January 2022, 04:47 IST

Like this article?

Hey! I am रुक्मणी चौरसिया. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News