1. सरकारी योजनाएं

खुशखबरी! राज्य सरकार की बड़ी पहल, राशन कार्ड धारकों के लिए करेगी चावल एटीएम स्थापित

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा

सरकार लोगों की सहायता के लिए कई तरह की योजनाएं चला रही है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक सरकारी सुविधाएं पहुंच सकें. ऐसे में खबरों से मिली जानकारी के अनुसार, सार्वजनिक वितरण प्रणाली (Public Distribution System जिसे PDS भी कहा जाता है, के तहत कर्नाटक सरकार (Karnatak Government) कार्ड धारकों के लिए चावल-वितरण मशीन (Rice Distribution Machine) स्थापित करने की योजना बना रही है. यह मशीनें जिन्हें सरकार राइस एटीएम (Rice ATM) भी कह रही है, पूरे राज्य में विभिन्न स्थानों पर स्थापित की जाएंगी. कर्नाटक के खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री के गोपालैया (Minister for Food and Civil Supplies Mr. K.Gopalaya) ने कहा कि राशन कार्ड रखने वाले लोगों को 24X7 चावल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए 'राइस एटीएम' स्थापित किए जाएंगे. जिससे उन्हें राशन की दुकानों के सामने लंबी कतारों में खड़ा होकर घंटों इंतजार नहीं करना पड़ेगा.

कहां से आया Rice ATM का विचार

राइस एटीएम (Rice ATM) को स्थापित करने का विचार इंडोनेशिया और वियतनाम से आया है जहां अधिकारियों ने कोरोनावायरस लॉकडाउन के दौरान अपने नागरिकों को मुफ्त चावल (Free Rice) देने के लिए चावल-वितरण मशीनों (RDM) की स्थापना की है. जानकारी के अनुसार, मंत्री ने कहा, "विभाग पहल की व्यवहार्यता की जांच करने के लिए कर्नाटक में 2 चावल एटीएम स्थापित करेगा और यदि परियोजना सफल रही तो राज्य भर में इसे बढ़ाया जाएगा.

उन्होंने आगे कहा कि राइस एटीएम (Rice ATM) गरीबी रेखा से नीचे के लोगों के लिए मददगार होंगे, जिन्हें दिन के दौरान काम करना होता है और काम के घंटों के दौरान पीडीएस सेंटर (PDS Centre) जाने के लिए समय पर संदर्भित किया जाता है. इस नई प्रणाली के साथ, वे सरकार द्वारा संचालित राशन की दुकानों (Ration Shops) के सामने लंबी लाइनों से भी बच सकेंगे.

कैसे करेगी ये मशीन काम ?

मंत्री ने बताया कि प्रारंभिक परियोजना रिपोर्ट के अनुसार, चावल-डिस्पेंसिंग मशीनें (Rice Dispensing Machines) 100 से 500 किलोग्राम की क्षमता से विभिन्न आकारों में आएंगी. जिस व्यक्ति को चावल की आवश्यकता होती है, उसे मशीन में एक सिक्का डालना पड़ेगा और चावल की एक निश्चित मात्रा आएगी. लोगों के लिए राइस एटीएम को सुविधाजनक बनाने के लिए, राज्य सरकार स्मार्ट कार्ड (Smart Card) या एक बायोमेट्रिक सिस्टम (Biometric System) जैसे अन्य एटीएम की भी योजना बना रही है. कर्नाटक सरकार ने पहले राज्य भर में पीने के पानी के एटीएम लगाए थे. जानकारी के अनुसार, कर्नाटक में 1,800 से अधिक जल वितरण एटीएम (Water Dispensing Atm) हैं.

ये खबर भी पढ़े: Ration card online application: जानिए ऑनलाइन Ration card बनवाने हेतु अप्लाई करने का तरीका !

English Summary: Good News! Now the government will set up rice atm for ration card holders, read full news

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News