खुशखबरी ! कृषि यंत्रों की खरीद पर मिल रही है 80% सब्सिडी, जानिए क्या है योजना

आधुनिक कृषि के लिए कृषि यंत्रों का होना बहुत जरूरी है. कृषि यंत्रों से जहां श्रम कम लगती है तो वहीं फसलों की पैदावार में वृद्धि होती है. लेकिन कुछ किसान आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने की वजह से महंगे कृषि यंत्र नहीं खरीद पाते हैं. इन्हीं बिन्दुओं के मद्देनज़र सरकार हमेशा से किसानों की कमाई को बढ़ाने के लिए नई-नई स्कीमें लाती रहती है, ताकि उन पर ज्यादा आर्थिक बोझ न पड़े. किसान सम्मान निधि योजना (Kisan Samman Nidhi Yojana) से लेकर कई सारी ऐसी योजनाएं हैं, जिनके जरिए किसान भाई खेती के अलावा भी अपनी कमाई को बढ़ा सकते हैं. अब सरकार किसानों की कमाई बढ़ाने के लिए फॉर्म मशीनरी बैंक (Farm Machinery Bank) के तौर पर एक योजना लेकर के आई है, जिससे अपनी खेती करने के साथ ही दूसरों की मदद भी कर सकते हैं.

क्या है फॉर्म मशीनरी बैंक योजना (What is Form Machinery Bank Scheme)

किसानों के लिए फॉर्म मशीनरी बैंक बनाया गया है. आजकल खेती बिना मशीनों के कर पाना असंभव है. लेकिन प्रत्येक किसान खेती-बाड़ी में प्रयुक्त होने वाली मशीनों को नहीं खरीद सकता है. सरकार ने किराये पर मशीनों की उपलब्धता बढ़ाने के फॉर्म मशीनरी बैंक का गांवों में गठन किया जा रहा है. इसके लिए सरकार ने वेबसाइट, मोबाइल ऐप के जरिए किसान समूहों का गठन किया है.

फॉर्म मशीनरी बैंक पर सरकार दे रही है 80 फीसदी सब्सिडी (Government is giving 80 percent subsidy on Farm Machinery Bank)

नौजवान फार्म मशीनरी बैंक खोलकर नियमित और अच्छी इनकम का जरिया खड़ा कर सकते हैं. खास बात ये है कि फार्म मशीनरी बैंक के लिए सरकार 80 फीसदी सब्सिडी के साथ कई और तरह की मदद भी कर रही है.

फॉर्म मशीनरी बैंक खोलने के लिए 20 फीसदी लगाना होगा पैसा (20 percent money will have to be invested to open a form machinery bank)

केंद्र सरकार देशभर में 'कस्टम हायरिंग सेंटर' (Custom Hiring Centre) बनाये जाने को प्रोत्साहन दे रही है और 50 हजार से ज्यादा 'कस्टम हायरिंग सेंटर' बनाए भी जा चुके हैं. फार्म मशीनरी बैंक के लिए किसान को कुल लागत का महज 20 फीसदी पैसा ही लगाना होगा. क्योंकि, लागत का 80 फीसदी पैसा सब्सिडी के तौर पर वापस किसान को मिल जाएगा. सब्सिडी 10 लाख से लेकर एक करोड़ रुपये तक दी जाएगी.

फॉर्म मशीनरी बैंक खोलने हेतु 3 साल में केवल एक बार मिलेगा सब्सिडी (Subsidy will be given only once in 3 years to open form machinery bank)

किसान अपने फार्म मशीनरी बैंक में सीड फर्टिलाइजर ड्रिल, प्लाउ, थ्रेसर, टिलर, रोटावेटर जैसी मशीनों को अनुदान पर खरीद सकता है. कृषि विभाग की किसी भी योजना एक मशीनरी पर तीन साल में केवल एक बार ही सब्सिडी दी जाएगी. एक साल में किसान तीन अलग-अलग तरह के यंत्र या मशीनों पर अनुदान ले सकता है.

फॉर्म मशीनरी बैंक खोलने हेतु ऐसे करें आवेदन (How to apply for opening form machinery bank)

फार्म मशीनरी बैंक के लिए किसानों को अनुदान के लिए अपने इलाके के ई-मित्र कियोस्क पर एक तय फीस देकर आवेदन करना होगा.

अनुदान के लिए एप्लीकेशन के साथ फोटो, मशीनरी के बिल की कॉपी, भामाशाह कार्ड, आधार कार्ड, बैंक खाते की पास बुक की फोटो कॉपी समेत कुछ और दस्तावेज जमा करने होते हैं. https://register.csc.gov.in/

राजस्थान में शुरू हुई फॉर्म मशीनरी बैंक स्कीम (Farm machinery bank scheme started in Rajasthan)

राजस्थान में इस योजना के तहत सभी वर्ग के किसानों को फायदा दिया जाएगा. हालांकि अनुसूचित जाति, जनजाति, महिलाओ, बीपीएल कार्ड धारक और छोटे किसानों को प्राथमिकता दी जाती है. इस योजना के तहत 'पहले आओ पहले पाओ' के अनुसार किसानों को अनुदान राशि दी जाएगी.

ये खबर भी पढ़े: खुशखबरी! खोलिए फार्म मशीनरी बैंक, सरकार देगी 80 फीसदी तक सब्सिडी, जानिए आवेदन प्रक्रिया

English Summary: Good News ! 80% subsidy on purchase of agricultural equipment

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News