PM Kisan Subsidy: किसानों को मिल सकता है दोगुनी सब्सिडी का लाभ

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

कोरोना वायरस के खौफ से दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मुंबई समेत कई राज्य लॉकडाउन की स्थिति में हैं. इसका सबसे ज्यादा असर किसान और आम आदमी की जेब पर पड़ रहा है. हालांकि, देश की मोदी सरकार इस संकट से निपटने के लिए हर संभावित प्रयास कर रही है. किसान की खेती पर भी इसका काफी बुरा असर होता दिख रहा है. देश का अन्नदाता कहा जाने वाला किसान इस वक्त कई बड़ी मुसीबत से जूझ रहा है.

किसानों को मिल सकती है बड़ी राहत

ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि मोदी सरकार जल्द ही किसानों के लिए एक बड़ी खुशखबरी सुना सकती है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जल्द ही किसानों के लिए पीएम किसान सब्सिडी दोगुनी कर सकती हैं. माना जा रहा है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जल्द ही इसका ऐलान करेंगी.

मोदी सरकार के कदम की तारीफ़

मोदी सरकार के इस कदम की काफी तारीफ़ की जा रही है. पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी.चिदंबरम ने भी इस कदम की सहारना की है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ”मैं इस संकेत का स्वागत करता हूं कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज लोकसभा में राहत उपायों का ऐलान करेंगी.” बता दें कि पी.चिदंबरम ने मोदी सरकार को सुझाव भी दिए हैं.

सुझावों में कई चीजें हैं शामिल

  • प्रधानमंत्री किसान सब्सिडी को दोगुना करना.

  • योजना में किरायेदार किसानों को शामिल करना.

  • कर भुगतान की तारीखों में बदलाव

  • अप्रत्यक्ष करों में कटौती (खासतौर पर कुछ जीएसटी दरों में)

  • गरीब परिवारों को पैसा ट्रांसफर करना.

इसके अलावा जो परिवार खाद्यान्न लेना चाहता है, उस परिवार को सरकार मुफ्त में 10 किलो गेहूं या चावल उपलब्ध कराए. इसके साथ ही नौकरी देने वालों को गारंटी और राजकोषीय प्रोत्साहन प्रदान करे, जिससे मजदूरी और रोजगार का वर्तमान स्तर को बना रहे.

ये खबर भी पढ़ें: Corona Medicine: कोरोना इंफेक्शरन से बचाएगी ये दवा, अमेरिका ने भी दिया सुझा

English Summary: farmers will get double benefit of pm kisan subsidy

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News