1. सरकारी योजनाएं

किसानों को बड़ा तोहफा, जिप्सम खाद पर मिलेगी 75 फीसदी सब्सिडी

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा
Subsidy

केंद्र व राज्य सरकार समय-समय पर किसानों के हित में नई -नई योजनाएं लाती रहती है, इस कड़ी में यूपी की योगी सरकार किसानों के खेत में मृदा में सूक्ष्म तत्वों की कमी को दूर करने एवं भूमि सुधार के लिए जिप्सम वितरण की योजना को स्वीकृति प्रदान कर दी है. स्वीकृति मिल जाने के बाद से अब यूपी के किसानों को कृषि विभाग से जिप्सम खाद पर 75 फीसदी सब्सिडी मुहैया कराया जायेगा. बता दे कि इसके लिए भारत सरकार की संचालित योजनाओं राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन (एनएफएसएम), एनएफएसएम आयल सीड्स, पूर्वी उत्तर प्रदेश में हरित क्रांति के विस्तार की योजना जीआरआई के तहत 75 फीसद सब्सिडी पर जिप्सम खाद मुहैया कराने का कार्य कराया जाएगा.

jipsam

गौरतलब है कि इसमें भारत सरकार की योजनाओं से 50 फीसद सब्सिडी केंद्र अंश के रूप में तथा 25 फीसद सब्सिडी राज्य सेक्टर की मृदा में सूक्ष्म तत्वों की कमी को दूर करने एवं भूमि सुधार जिप्सम वितरण की योजना से वहन किया जाएगा. दरअसल प्रमुख सचिव कृषि अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि जिप्सम के प्रयोग से मृदा के भौतिक, रासायनिक एवं जैविक गुणों में काफी सुधार होता है. जिससे फसलोंत्पादन एवं गुणवत्ता में वृद्धि होती है. जिप्सम खाद में मौजूद में सल्फर एवं कैल्शियम तथा अन्य सूक्ष्म तत्व भूमि की उर्वरा शक्ति को बढ़ाने में काफी सहायक होते है. उन्होंने बताया कि प्रदेश में वितरित किए गए मृदा स्वास्थ्य कार्ड में दिखाई गई स्थिति की किस भूमि में किस-किस तत्व की कमी है, उसके अनुसार ही जिप्सम किसानों को उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाएगा.

किन किसानों को मिलेगा इस योजना का लाभ

प्रमुख सचिव कृषि ने कहा कि योजना के अंतर्गत समस्त श्रेणी के पंजीकृत किसान अनुदान का लाभ पाने के लिए हकदार होंगे. उन्होंने बताया कि लघु एवं सीमांत कृषकों को प्राथमिकता दी जाएगी एवं किसी एक कृषक को 2 हेक्टेयर की सीमा तक ही जिप्सम उपलब्ध कराया जाएगा. उन्होंने बताया कि जिप्सम पर अनुदान का भुगतान पंजीकृत लाभार्थियों को डीबीटी के माध्यम से सीधे उनके खाते में किया जाएगा. उन्होंने बताया कि योजना प्रदेश के समस्त 75 जनपद में लागू होगी.

English Summary: Farmers get big gift, 75 percent subsidy on gypsum fertilizer

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News