जानिए DBT क्या होता है और इसके अंतर्गत किन–किन सरकारी योजनाओं का लाभ मिलता है

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

केंद्र और राज्य सरकार किसानों के हित में तमाम योजनाएं लागू करती है. अगर आप एक किसान हैं, तो आपके लिए यह लेख पढ़ना बहुत ज़रूरी है. दरअसल, भारत सरकार द्वारा देश के किसानों तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए डीबीटी कृषि विभाग (DBT Agriculture Department) स्थापित किए गए हैं. यह हर राज्य में अलग-अलग स्थापित किए जाते हैं. डीबीटी कृषि विभाग बिहार (DBT Agriculture Bihar) ने भी किसानों के लिए प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग, बिहार सरकार (DBT Agriculture Portal) विकसित किया है. इस पोर्टल के तहत किसानों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जाता है. यहां किसान पंजीकरण (Farmer Registration) भी किया जाता है. इस लेख में आप डीबीटी एग्रीकल्चर पोर्टल (DBT Agriculture Portal) से जुड़ी सारी जानकारी पढ़ सकते हैं. 

क्या है DBT  Agriculture Portal

भारत सरकार द्वारा किसानों के लिए तमाम योजनाएं चलाई जाती हैं. इन योजनाओं की देखभाल डीबीटी कृषि विभाग (DBT Agriculture Department) ही करता है. इसका मुख्य कार्य है कि यह किसानों के खाते में सीधे पैसा भेजने का काम करता है. इसके तहत ही डीबीटी एग्रीकल्चर पोर्टल बिहार (DBT Agriculture Portal Bihar) बनाया गया है. यहां सभी किसानों का ब्यौरा इकट्ठा किया जाता है, ताकि उन्हें केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ मिल सके. इसके माध्यम से किसान के खाते में सीधे पैसा भेजा जाता है. इन पर राज्य के किसानों का रजिस्ट्रेशन (farmer registration) कराया जाता है. इसके बाद ही राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ दिया जाता है. इससे आपको जानकारी भी मिल जाती है राज्य सरकार द्वारा किसानों के लिए कौन-सी योजना चलाई जा रही हैं.

DBT Agriculture Bihar की जानकारी

बिहार सरकार ने किसानों के लिए केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ देने के लिए डीबीटी एग्रीकल्चर (DBT Agriculture) की शुरुआत की है. इसके तहत डीबीटी एग्रीकल्चर पोर्टल बिहार (DBT Agriculture Portal Bihar) को विकसित किया है. बता दें कि इसकी मदद से राज्य सरकार की योजनाओं का आवेदन और जानकारी, दोनों कार्य कर सकते हैं. इसकी अधिक जानकारी के लिए आप dbtagriculture.bihar.gov.in पर जाएं.

बिहार सरकार की किसानों के लिए सब्सिडी योजना

  • कृषि इनपुट अनुदान योजना

  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

  • पुनर्विचार हेतु आवेदन प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

  • सूखाग्रस्त प्रखंडों के लिए कृषि इनपुट सब्सिडी योजना

  • पुनर्विचार सूखाग्रस्त प्रखंडों के लिए कृषि इनपुट सब्सिडी योजना

  • डीजल अनुदान खरीफ

  • प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना

  • कृषि यंत्रीकरण योजना

  • बीज अनुज्ञापित राज्य सरकार हेतु आवेदन

  • बीज अनुदान योजना आवेदन

बिहार के किसानों को बता दें कि इन सरकारी योजनाओं के लिए आवेदन डीबीटी एग्रीकल्चर पोर्टल (DBT Agriculture Bihar) के माध्यम से कर सकते हैं.

बिहार किसान पंजीकरण के लिए ज़रूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड

  • आधार कार्ड से लिंक किया हुआ मोबाइल नंबर

  • बैंक खाता विवरण

किसान पंजीकरण की प्रकिया

  • सबसे पहले डीबीटी एग्रीकल्चर पोर्टल बिहार (DBT Agriculture Bihar) के आधिकारिकवेबसाइट dbtagriculture.bihar.gov.in

  • अब पंजीकरण के विकल्प को क्लिक करें. इसके बाद पंजीकरण संबंधी कई विकल्प खुलकर सामने आ जाएंगे. जैसे, पंजीकरण करें, पंजीकरण जानें, पंजीकरण प्रिंट करें. आपको जिस प्रक्रिया से पंजीकरण करना है, उसका चुनाव कर लें.

  • अगर पंजीकरण ऑनलाइन करना चाहते हैं, तो आपके पास एक बायोमेट्रिक डिवाइस का होना जरूरी है.

  • इसके बाद आपको अपना आधार नंबर और नाम डालना होगा. अब authentication बटन पर क्लिक करते ही मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा. इस ओटीपी को बॉक्स में भरना है.

  • अब एक नया पेज खुलकर आएगा, जिसमें किसान पंजीकरण (farmer registration) के विकल्प का चयन करना है,

  • एक पेज खुलकर सामने आएगा, जिसमें अपनी सारी जानकारीभरनी होती है.

  • इस फॉर्म को भरने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक करना है.

  • अब आपको किसान रजिस्ट्रेशन नंबर (farmer registration number) मिल जाएगा. यह किसान को याद रखना है.

  • इस तरह आपका आवेदन हो जाएगा. इसके बाद किसान केंद्र और राज्य सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं.

ये खबर भी पढ़ें: PM Fasal Bima Yojana: मोदी सरकार ने 12 राज्यों के किसानों को दिया 2,424 करोड़ रुपए का लाभ, जानें पूरी खबर

English Summary: Bihar government created DBT Agriculture Portal, on which read the outgoing to register

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News