1. खेती-बाड़ी

जानिए, कहां हो रही है चीनी मशरूम की पैदावार ?

किशन
किशन

देश में मशरूम की खेती करने वाले किसानों के लिए काफी अच्छी खबर है. बटन मशरूम के बाद अब देश में चीन की प्रसिद्ध ढींगरी मशरूम की खेती से आप लाखों कमा सकते हैं. चीन के इस ढींगरी मशरूम की खेती अब हरियाणा में भी होगी. इसके लिए हरियाणा उद्यान विभाग उत्पादकों को अनुदान भी देगा. अभी तक हरियाणा के जिलों में केवल बटन मशरूम का उत्पादन हो रहा था. इस बार नए वित्तीय वर्ष में चीन के ढींगरी मशरूम उत्पादन हेतु बजट भी रखा गया है.

ये है ढींगरी मशरूम की खासियत

ढ़ींगरी मशरूम को अन्य मशरूम की तुलना में आसानी से उगाया जा सकता है. इसकी सबसे खास बात यह है कि अगर इस मशरूम के बीज अगर यदि पराली पर डाल दिए जाएं तो यह मशरूम अपने आप उग जाते है. चूंकि यह मशरूम काफी पौष्टिक होता है क्योंकि इसमें वसा और शर्करा कम मात्रा में पाया जाता है. इसलिए यह मोटापा, मधुमेह और रक्तचाप के मरीजों के लिए यह एक आदर्श आहार है. अन्य किस्म की मशरूम को बेहतर पैदावार के लिए 15 से 18 डिग्री सेल्सियस तापमान की आवश्यकता होती है तो वहीं ढींगरी मशरूम को 20 से 30 डिग्री सेल्सियस तापमान पर भी उगाया जा सकता है. 

आकर्षक रंग में होती है ढींगरी की खेती

बटन मशरूम सफेद रंग की खेती होती है. ढींगरी मशरूम गुलाबी, पीले, क्रीम रंग की होती है. यह देखने में काफी आकर्षक लगती है लेकिन हरियाणा के मशरूम उत्पादकों में इसके प्रति रूझान कम है. इस ढींगरी मशरूम को शुष्क मौसम में भी उगाया जा सकता है.

चीन में होती है ढींगरी मशरूम की खेती

ढींगरी मशरूम को आमतौर पर चीन में ही उगाया जाता है. हरियाणा में अभी इसका उत्पादन शुरू नहीं हुआ है लेकिन उच्च स्तर इसकी प्रक्रिया चल रही है. राष्ट्रीय बागवानी मिशन के डायरेक्टर ने इसकी खेती के तरीके जानने के लिए चीन का दौरा किया है. इसके लिए अलग से बजट भी रखा जाएगा और उत्पादकों को अनुदान भी दिया जाएगा. इससे आसपास और राज्य के किसानों को काफी फायदा होने की उम्मीद है.

English Summary: janiye kha ho rhi hai chini mushroom ki paidawar.

Like this article?

Hey! I am किशन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News