Farm Activities

कब और कैसे करें टमाटर की खेती? जानें पूरी विधि

tamato

किसान भाइयों के लिए टमाटर की खेती एक बढ़िया विकल्प हो सकता है. अगर सही से इसकी खेती की जाए, तो किसान भाइयों को लाखों की कमाई होगी. टमाटर की खेती ज्यादातर ठंडे मौसम में की जाती है. 21 से 23 डिग्री तापमान को खेती की जा सकती है. टमाटर को या तो सब्जी में लगाकर या चटनी बनाकर लोग खाते हैं. व्यापारिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो टोमेटो सौस बनाकर कंपनियां अरबों रुपये की कमाई कर रही हैं. तो आइए जानते हैं कैसे करें टमाटर की खेती-

खेत की तैयारी

टमाटर की खेती करने के लिए किसान भाइयों को पहले अच्छे तरीके से खेत को तैयार कर लेना चाहिए. रेतीली दोमट से चिकनी काली कपासीय मिट्टी और लाल मिट्टी उचित मात्रा में जल निकास वाली होनी चाहिए. रेतीली दोमट मिट्टी में फसल की पैदावार अच्छी होती है.

ये हैं उन्नत किस्में

टमाटर की कई किस्में बाजार में उपलब्ध हैं. इनमें एआरटीएच 3, एआरटीएच 4, अविनाश 2, हिसार लालिमा (सिलेक्शन 18 ), पंत बहार, पूसा दिव्या,  पूसा गौरव, पूसा संकर 1, पूसा संकर 2,  पूसा संकर 4, पूसा रुबी, पूसा शीतल, पूसा उपहार, रजनी, रश्मी, रत्न, एच एम 102, एच एस 110, सिलेक्शन 12, हिसार अनमोल (एच 24 ) और रोमा शामिल हैं.

Tamoto

कैसे करें बुवाई

यूं तो उत्तर भारत में शरद और बसंत ऋतु में टमाटर की बुवाई होती है, लेकिन दक्षिण भारत में जून, जुलाई, अक्टूबर, नवंबर, जनवरी और फरवरी में टमाटर की बुवाई कर सकते हैं. पंजाब की बात करें तो यहां बसंत से ग्रीष्म ऋतु बुवाई के लिए बढ़िया माना जाता है.

खाद और उर्वरक

किसान भाइयों को नत्रजन की आधी मात्रा, फासफोरस और पोटाश की पूरी मात्रा खेत की अंतिम जुताई के समय देनी चाहिए. गोबर की खाद की संपूर्ण मात्रा रोपाई से 15-20 दिन पहले ही देनी चाहिए. नत्रजन की शेष मात्रा सिंचित दशा में खरपतवार नियंत्रण के बाद रोपाई के 30-35 दिन बाद देनी चाहिए.

कीटनाशक का प्रयोग

हमारे किसान भाई कीटनाशक का प्रयोग करने में कई गलतियां कर देते हैं. कभी-कभी फसल में ज्यादा कीटनाशक देने से फसल बर्बाद हो जाता है. किसान भाई फ्लूक्लोरेलिन 1 किलो प्रति हेक्टेयर, मेरिटेंजिन (सेन्फोर) 0.25 – 0.50 किलो प्रति हेक्टेयर और एलैक्लोर (लासों) 2.0 किलो प्रति हेक्टेयर के हिसाब से दें.

कब टमाटर को तोड़ें

टमाटर जब हल्का लाल होने लगे तभी उसे तोड़ना शुरू करें. तोड़ने के समय कीट ग्रस्त फलों को अलग कर लें, नहीं तो यह अच्छे फलों को भी नुकसान पहुंचा देगा. साथ ही छोटे और दागी फलों को भी छाटकर अलग रखें. फिर टमाटर को मंडी या बाजार में ले जाकर बेच दें. 



English Summary: How to farm Tomato, know about seeds and everything

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in