1. खेती-बाड़ी

हवा में आलू उगाने पर मिलेगी 5 गुना ज्यादा पैदावार, जानिए क्या है इसकी तकनीक?

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Aeroponic Technology

Aeroponic Technology

आजतक आप सभी ने जमीन के अंदर आलू की खेती (Potato ​​​​​​​Farming) होते देखी होगी, तो वहीं कई लोगों ने खुद जमीन में आलू उगाया भी होगा. मगर अब आलू की खेती (Potato ​​​​​​​Farming) में एक क्रांतिकारी बदलाव लाया गया है और ऐसा एरोपॉनिक तकनीक की वजह से हो पाया है.

इस तकनीक की मदद से आलू जमीन में नहीं, बल्कि हवा में उगाया जा रहा है. इस तकनीक से आलू उगाने पर 5 गुना ज्यादा मुनाफा मिलता है. इसके साथ ही आलू को सड़ने और खोदते समय होने वाले नुकसान से भी बचाया जा सकता है. अगर आप एरोपॉनिक तकनीक (Aeroponic Technology) के बारे में और अधिक जानना चाहते हैं, तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ते रहिए..

एरोपॉनिक तकनीक क्या है? (What is Aeroponic Technology?)

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो इस तकनीक से आलू की खेती (Potato ​​​​​​​Farming) करने के लिए इंटरनेशनल पोटैटो सेंटर और आलू प्रोद्योगिकी केंद्र करनाल के बीच एक एमओयू भी हुआ है. यह एक ऐसी तकनीक है, जिसके तहत आलू के पौधों की जड़ें हवा में लटकती हैं. इससे पौधों को पोषण मिलता है. इस कारण मिट्टी और जमीन, दोनों की आवश्यकता नहीं पड़ती है. इस तकनीक से आलू की उपज क्षमता 3 से 4 गुना बढ़ जाती है.

एरोपॉनिक तकनीक से फायदा (Benefits of aeroponic technology)

इस तकनीक का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे आलू को जमीन और हवा, दोनों में आलू उगाया जा सकता है. इस तकनीक से आलू उगाने का प्रयोग हरियाणा के करनाल जिले में स्थित आलू प्रौद्योगिकी केंद्र में हुआ. विशेषज्ञों की मानें, तो आलू की उपज बिना जमीन और मिट्टी के ही खेती करके 10 गुना बढ़ाई जा सकती है. इस तकनीक का इस्तेमाल व्यापक तौर शुरू हो सकता है. इस तकनीक से खेती करने के लिए केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है.

ये खबर भी पढ़ें: हवा में आलू उगाने पर मिलेगी 10 गुना ज्यादा पैदावार, जानिए क्या है ये नई तकनीक?

किसानों के लिए बेहद फायदेमंद है तकनीक (Technology is very beneficial for farmers)

हवा में आलू उगाने वाली एरोपॉनिक तकनीक (Aeroponic Technology) किसानों के लिए बेहद फायदेमंद है, क्योंकि इस तकनीक से कम लागत में बंपर उपज प्राप्त की जा सकती है. सबसे बड़ी बात यह है कि इस तकनीक से आलू की खेती करने के लिए जमीन की जरूरत नहीं होती है, इसलिए किसानों की अच्छी आमदनी हो जाती है.

जानकारी के लिए बता दें कि एरोपॉनिक तकनीक (Aeroponic Technology) द्वारा बिना मिट्टी व जमीन के आलू उगाए जा रहे हैं. इसमें एक पौधा 40 से 60 छोटे आलू तक दे रहा है. इन्हें खेत में बीज के तौर पर रोपित किया जा रहा है. इससे किसानों को काफी अच्छा लाभ मिल रहा है.

English Summary: Growing potatoes with Aeroponic Technology will give more yield

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters