1. Home
  2. खेती-बाड़ी

Tunnel Farming: खेती में बेहतर उपलब्धता और मुनाफा पाने के लिए अपनाएं यह अनोखा तरीका!

अभी तक तो आपने बहुत तरह की खेती के बारे में सुना होगा लेकिन क्या कभी आपने टनल फार्मिंग के बारे में सुना है.शायद नहीं, तो चलिए आज हम आपको इसकी खेती के बारे में बताते हैं क्योंकि आने वाला समय ऐसी खेती की मांग कर रहा है साथ ही यह किसानों की आय में वृद्धि करने में भी मदद करेगा.

रुक्मणी चौरसिया
Tunnel Farming
Tunnel Farming

अभी तक तो आपने बहुत तरह की खेती के बारे में सुना होगा लेकिन क्या कभी आपने टनल फार्मिंग (Tunnel Farming) के बारे में सुना है.शायद नहीं, तो चलिए आज हम आपको इसकी खेती के बारे में बताते हैं क्योंकि आने वाला समय ऐसी खेती की मांग कर रहा है साथ ही यह किसानों की आय में वृद्धि (Increase in income of farmers) करने में भी मदद करेगा.

क्या है टनल फार्मिंग (What is tunnel farming)

फसलों को उनके प्राकृतिक समय से पहले या बाद में सफलतापूर्वक उगाने और अच्छी उपज लेने की तकनीक को ऑफ-सीजन खेती कहा जाता है. यह जल्दी बुवाई या देर से बुवाई हो सकती है. इस संबंध में गर्मियों की सब्जियों की खेती सर्दियों की धूप में पॉलिथीन शीट की आड़ में की जाती है और जल्दी फसल प्राप्त करने के लिए कृत्रिम रूप से गर्मी प्रदान की जाती है.और इसी तकनीक को टनल फार्मिंग कहते हैं.

बेमौसमी फसल यानी ऑफ सीजन से क्या तात्पर्य है (What is meant by off-season crop)

किसी भी फल या सब्जी से उनके सामान्य विकास के मौसम में खेती और सफल उपज प्राप्त करने को 'ऑफ-सीजन फसल' कहा जाता है.

मिट्टी का चयन (Soil Selection)

अच्छी वातन वाली बलुई दोमट मिट्टी सब्जियों की खेती के लिए उत्तम होती है. मिट्टी का pH लगभग 6-7 होना चाहिए और कार्बनिक पदार्थ की मात्रा 5-10% के बीच होनी चाहिए.

साइट चयन (Site Selection)

एक अच्छी साइट में कुछ विशेषताएं होती हैं जैसे कि वह सड़क के करीब हो, पानी की उपलब्धता हो, जानवरों से मुक्त हो, उसके आस-पास कम से कम पेड़ हों, पैदल पथ से कुछ दूरी पर जहां से उसकी देखभाल आसानी से की जानी चाहिए.

टनल की संरचना (Tunnel Structure)

यह किसान के बजट पर निर्भर करता है. हालांकि "यू-आकार और उल्टे-वी-आकार" सुरंग सबसे अच्छे माने जाते हैं. ये हवा और बारिश से होने वाले नुकसान के लिए अच्छा प्रतिरोध प्रदान करते हैं.

यह भी पढ़ें: Hydroponic farming: कैसे होती है हाइड्रोपोनिक खेती? जानें विधि

टनल के प्रकार (Type of tunnel)

ऊंची सुरंग (High Tunnel)

मध्यम या चलने वाली सुरंग (Medium & Walking Tunnel)

छोटी सुरंग (Low Tunnel)

किस्मों का चयन (Selection of Varieties for Tunnel Farming)

सब्जियों में खीरा, टमाटर, शिमला मिर्च, करेला और स्क्वैश और फलों के बीच तरबूज और स्ट्रॉबेरी की सफलतापूर्वक टनल में खेती की जा रही है. इसके लिए विभिन्न सार्वजनिक और निजी बीज कंपनियों के बीज उपलब्ध हैं जिनका उपयोग अच्छी उपज प्राप्त करने के लिए किया जा रहा है.

English Summary: Follow this unique method to get better availability and profit in farming! Published on: 01 January 2022, 04:40 IST

Like this article?

Hey! I am रुक्मणी चौरसिया. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News