Farm Activities

तुलसी की खेती से जुड़ी संपूर्ण जानकारी

कई तरह के औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी का पौधा लगभग सभी घरों में होता है. हिंदू धर्म को मानने वाले लोग इसकी पूजा भी करते हैं. लेकिन अगर आप चाहें तो इसकी खेती करके भारी मुनाफ़ा कमा सकते हैं. तुलसी की कॉस्मेटिक्स प्रोडक्ट्स के साथ ही दवाई बनाने वाली सभी कंपनियों को जरूरत होती है. गौरतलब है कि उज्जैन के एक किसान ने 10 बीघा जमीन में 10 किलो बीज की बुवाई की थी. जिसकी लागत 15 हजार रूपये आई. जबकि 3 लाख का मुनाफा रहा.  तुलसी की फसल 3 माह में तैयार हो जाती हैं. इसकी 1 बीघा खेती करने पर 1500 रुपए का खर्च आता है.

कैसे करें खेती

जुलाई माह तुलसी के पौधे को खेत में लगाने का सबसे सही समय होता है. सामान्य पौधे 45x 45 सेंटीमीटर की दूरी पर लगाने चाहिए जबकि RRLOC 12 और RRLOC 14 किस्म के पौधे 50 x 50 सेंटीमीटर की दूरी पर होने चाहिए. पौधों को लगाने के तुरंत बाद हल्की सिंचाई करना जरूरी है. हफ्ते में कम से कम एक बार या जरूरत के मुताबिक पानी देना होता है. विशेषज्ञों के मुताबिक  फसल की कटाई से 10 दिन पहले से ही सिंचाई देना बंद कर देना चाहिए.

कब होती है कटाई

जब पौधों की पत्तियां बड़ी हो जाती हैं तभी इनकी कटाई शुरू हो जाती है. सही समय पर कटाई करना जरूरी है. ऐसा न करने पर तेल की मात्रा पर इसका असर होता है. पौधे पर फूल आने की वजह से भी तेल की मात्रा कम हो जाती है  इसलिए जब पौधे पर फूल आना शुरू हो जाएं उसी दौरान इनकी कटाई शुरू कर देनी चाहिए. पौधे की जल्दी नई शाखाएं आ जाएं इसलिए कटाई 15 से 20 मीटर ऊंचाई से करनी चाहिए.

कितनी आती है लागत

अगर आप 1 बीघा जमीन पर खेती करते हैं तो 1 किलो बीज की जरूरत पड़ेगी. इसकी बाजार में कीमत तक़रीबन 15  सौ रुपए होगी. 3 से 5 हजार रुपए की खाद लगेगी. सिंचाई का इंतजाम करना होगा. एक सीजन में 2 क्विंटल तक फसल की पैदावार होती है. मंडी में 30 से 40 हजार रुपए प्रति क्विंटल के भाव तक तुलसी के बीज बिक जाते हैं.

कैसे बेचें फसल

आप मंडी एजेंट्स के जरिए अपना माल बेच सकते हैं. सीधे मंडी में जाकर भी खरीददारों से संपर्क कर सकते हैं. कॉन्ट्रेक्ट फॉर्मिंग करवाने वाली दवा कंपनियों या एजेंसियों के जरिए खेती कर उन्हें ही अपना माल बेच सकते हैं.


विवेक राय, कृषि जागरण



Share your comments