तुलसी की खेती से किसान कमा रहे लाखों

तुलसी आमतौर पर घरों को लगाई जाती है. तुलसी को घरों में लगाने की परंपरा प्रायः उसके औषधीय गुणों के कारण होती है. अब इन्हीं औषधीय गुणों के कारण किसान मलामाल हो रहे हैं. ये सुनने में बेहद ही अटपटा लगे लेकिन तुलसी की खेती करने वाले किसान इसके बारे में काफी अच्छे से जानकारी दे सकते है. दरअसल मध्य प्रदेश के उज्जैन में तुलसी की खेती करने वाले किसानों की मानें तो उनको तुलसी की खेती करने से तीन लाख रूपए तक का मुनाफा हो रहा है और साथ ही तुलसी ने उनके भाग्य को बदल दिया है.

बारिश से सोयाबीन बर्बाद, तुलसी दे रही फायदा

अनोखीलाल पाटीदार का कहना है कि भारी बारिश हो जाने से उनके खेतों में लगी सोयाबीन की फसल पूरी तरह से नष्ट हो गई है लेकिन तुलसी की फसल को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. उन्होंने अपने 10 बीघा खेत के अंदर 10 किलो बीज डालकर खेती शुरू की है. इन 10 किलों बीज की कीमत 3 हजार रूपये है. इसके अलावा इसकी खेती पर 10 हजार रूपये खाद और 2 हजार अन्य पर खर्च हुए है. इसकी सिंचाई भी केवल एक बार ही करनी पड़ती है. पिछले सीजन में इसमें 8 क्विंटल उत्पादन हुआ और कुल तीन लाख रूपये की भी कमाई हुई है. यदि मंडी के भाव की बात करें तो तुलसी बीज नीम मंडी में 30 से 40 हजार प्रति क्विंटल के भाव में बिक जाते हैं.

तुलसी से होता है कई बीमारियों का इलाज

तुलसी एक ऐसी महत्वपूर्ण औषधीय है जिसकी सहायता से कई तरह की बीमारियों का इलाज हो जाता है. यह एक बेहद ही अच्छी औषधीय है.

1. तुलसी का सेवन करने से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है.

2. शहद के साथ इसका सेवन करने पर किडनी की पथरी का छह माह में इलाज हो जाता है.

3. कोलेस्ट्रोल को नियंत्रण करने में मदद करती है.

4. तुलसी की पत्तियों के रस का नियमित सेवन से दिल संबंधी समस्याओं का निदान हो जाता है.

रकबा बढ़ाने पर ध्यान

किसान का कहना है कि जिले में तुलसी की खेती को और ज्यादा से ज्यादा बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है. फिलहाल जिले में 157 हेक्टेयर भूमि पर औषधीय खेती की जा रही है.

किशन अग्रवाल, कृषि जागरण

Comments