Corporate

महिंद्रा एग्री सॉल्यूशंस लाया अत्याधुनिक ग्रेप पैक हाउस सुविधा

महिंद्रा एग्री सॉल्यूशंस लिमिटेड (MASL), महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड की सहायक कंपनी, USD 20.7 बिलियन महिंद्रा ग्रुप का हिस्सा है.

नासिक में इसकी अत्याधुनिक ग्रेप पैकहाउस सुविधा का उद्घाटन समारोह आयोजन किया गया  जिसमें महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के प्रबंध निदेशक डॉ. पवन गोयंका ने इसका उद्घाटन किया. अंगूर पैकहाउस सुविधा जो भारत मे अंगूर की कटाई के बाद के प्रबंधन में उपलब्ध नई तकनीकों को पेश करती है. महिंद्रा को अंगूर की फसल और कटाई के बाद के प्रबंधन में 14 वर्षों का अनुभव  है और आज यह भारत के लिए अंगूर के प्रमुख निर्यातकों में से एक बन गई है. इस नई तकनीक द्वारा अंगूर पैक्सहाउस सुविधा अंगूर की ताजगी को बनाए रखने में काफी मददगार साबित होगी.  महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के प्रबंध निदेशक डॉ. पवन गोयंका ने कहा कि , “इस आधुनिक पैकहाउस का उद्घाटन हमारे कृषि-व्यवसाय के लिए एक बहुत महत्वपूर्ण और जरूरी कदम है जो भविष्य में काफी लाभदायक साबित होगा .

महिंद्रा एग्री सॉल्यूशंस लिमिटेड के एमडी और सीईओ, अशोक शर्मा ने नासिक में नई सुविधा के उद्घाटन के अवसर पर कहा कि हम सभी लोगों को अंगूर की श्रृंखला में अत्याधुनिक पैकहाउस लाने के लिए काफी खुश हैं. यह नई सुविधा अंतर्राष्ट्रीय ग्राहकों का विश्वास बनाने में काफी अच्छी साबित होगी.  अवांट-गार्डे रेफ्रिजरेशन, प्रोसेसिंग और पैकिंग टेक्नोलॉजी के साथ यह पैकहाउस हमें वैश्विक मानकों के अनुसार उच्चतम गुणवत्ता की आपूर्ति सुनिश्चित करने में सक्षम करेगा.

अंगूर पैकहाउस सुविधा एक दिन में  90 टन से ज्यादा अंगूर पैक कर सकती है और इसे FSSAI और APEDA  द्वारा घरेलू प्रमाणन के अलावा BRC (ब्रिटिश रिटेल कंसोर्टियम), फेयरट्रेड, SMETA (SEDEX), और RFA (रेनफ़ॉर्मो एलायंस) जैसे अंतर्राष्ट्रीय निकायों द्वारा प्रमाणित भी किया जा चूका है. यह सुविधा 75,000 वर्ग फुट के कुल निर्मित क्षेत्र के साथ 6.5 एकड़ भूमि में रखी गई है.  इसमें 12 प्री-कूलिंग चैंबर और 280 मीट्रिक टन कोल्ड स्टोरेज क्षमता भी शामिल है.

सभी स्थानों पर एलईडी लाइटें लगाई गई हैं और कैप्टिव सौर ऊर्जा उत्पादन का भी प्रावधान किया गया है. 7 मिलियन लीटर से भी ज्यादा पानी को इकट्ठा करने और संग्रहीत करने के लिए एक वर्षा जल संचयन प्रणाली स्थापित की गई है. इसे हाउस सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के रुप में भी स्थापित किया गया है. जो बागवानी के लिए असंख्य गैर-पीने योग्य पानी प्रदान करती है.



Share your comments