Weather

Nivar Cycloneupdate:चक्रवाती तूफान निवार ने समुद्री तट से टकराने के बाद कहां-कहां मचाई तबाही?

Rain

आधी रात के बाद तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों से टकराया चक्रवाती तूफान निवार. रात के 1 से 3 बजे के बीच तटों से टकराया,  पुड्डुचेरी, कराईकल, चेन्नई, नागपट्टिनम कुड्डालोरमें तूफान की वजह से भारी तबाही मची है. इसके बाद ये तूफान तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों से गुजरता हुआ आगे निकल चुका है. मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक अब चक्रवाती तूफान निवार थोड़ा नरम पड़ा है. रात के समय जब ये तटों से टकराया ता उस समय हवा की गति 130 से 145 किलोमीटर प्रति घंटा की थी.जिसके बाद से ही तमिलनाडु और आसपास के इलाकों में भारी बारिश हुई और बहुत तेज हवा के झोके चले.तूफानी हवाओं के साथ कुड्डालोर में बीते लगभग 22 घंटों में 246 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है. वहीं पुडुचेरी में 237, चेन्नई में 89, कराईकल में 86 और नागप्पत्तिनम में 63 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई. इस तूफान की वजह से जन-जीवन काफी प्रभावित हुआ. इससे पहले ही कई उड़ानों को रद्द करना पड़ा और चेन्नई में यातायात पर भी प्रभाव पड़ा है.

Heavy rainfall:भारी बारिश को लेकर क्या है अलर्ट ?

तमिलनाडु और पुडेचेरी में पिछले कई घंटों से भारी बारिश हो रही है. यहां अगले 24 घंटों के दौरान कई जगह हल्की से मध्यम बारिश होगी तो कुछ स्थानों पर बहुत भारी बारिश के आसार भी हैं. तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कराईकल और रायलसीमा में के कुछ इलाकों में भारी से भारी बरसात हो सकती है. केरल और दक्षिणी कर्नाटक के भीतरी हिस्सों में भी कुछ जगह तेज वर्षा संभव है. उधर उत्तर भारत के जम्मू-कश्मीर, लद्दाख,गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद में कुछ जगह भारी बारिश का अनुमान है. हिमाचल प्रदेश में भी कहीं-कहीं मध्यम से भारी बारिश हो सकती है. इसके अलावा उत्तराखंड में एक-दो स्थानों पर हल्की बारिश हो सकती है. अगले 24 घंटों के दौरान ओडिशा और झारखंड के कुछ हिस्सों में हल्की बरसाती की संभावना है.

बर्फबारी और शीतलहरका अनुमान (Snow fall and cold wave condition)

उत्तर भारत के पहाड़ी राज्यों में अलग-अलग स्थानों पर बर्फबारी की संभावना है.जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद के कुछ हिस्सों में बर्फ गिरेगी. हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भी कहीं-कहीं बर्फबारी की संभावना है. जबकि पंजाब, हरियाणा, दिल्ली समते कई राज्यों में शीतलहर चलने का अनुमान है.



English Summary: Nivar Cycloneupdate: Where did Cyclone Prevention cause havoc after hitting the coast?

कृषि पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन दिखाएं..!!

प्रिय पाठक, हमसे जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे पाठक हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। हमें कृषि पत्रकारिता को और सशक्त बनाने और ग्रामीण भारत के हर कोने में किसानों और लोगों तक पहुंचने के लिए आपके समर्थन या सहयोग की आवश्यकता है। हमारे भविष्य के लिए आपका हर सहयोग मूल्यवान है।

आप हमें सहयोग जरूर करें (Contribute Now)

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in