दिल्ली सहित कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी, ओडिशा में चक्रवाती तूफान से भारी बारिश, जानें अपने राज्य का हाल

दिल्ली एनसीआर में शुक्रवार की रात भारी बारिश हुई. दिल्ली में शुक्रवार की शाम से ही बादल छाए हुए थे और हवा भी चल रही थी. वहीं, चक्रवाती तूफान ‘दाय’ शुक्रवार को तड़के गोपालपुर के निकट ओडिशा के तटों तक पहुंचा, जिस कारण वहां जबरदस्त बारिश हो रही है और मलकानगिरी जिला इससे बुरी तरह प्रभावित हुआ है जिले का संपर्क प्रदेश के शेष हिस्सों से कट गया है. विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) बी पी सेठी ने बताया कि चक्रवाती तूफान से मलकानगिरी जिला बुरी तरह प्रभावित हुआ है और पोतेरू सहित जलजमाव वाले क्षेत्रों में कुछ लोग फंसे हुए हैं. उन्होंने बताया कि जिले में कुछ स्थानों से करीब 150 लोगों को अब तक बचाया गया है. वहीं, मौसम विभाग ने शुक्रवार शाम एवं रात में बादल छाये रहने तथा हल्की बारिश और गरज के साथ छीटें पड़ने की संभावना व्यक्त की थी. हिमाचल प्रदेश में अगले चार दिन यानी 24 सितंबर तक भारी बारिश हो सकती है. मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने कहा कि विभाग ने सामान्य रूप से समूचे हिमाचल में भारी बारिश की आशंका व्यक्त की है जबकि शुक्रवार से मंगलवार तक खास तौर पर शिमला, कांगड़ा, मंडी और चंबा जिलों के लिये चेतावनी जारी की गई है.

उन्होंने बताया कि प्रभावित क्षेत्रों में राहत सामग्री के वितरण के लिए तुरंत कदम उठाये गये हैं और प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान का सही आकलन किया जा रहा है। मलकानगिरी के कलेक्टर मनीष अग्रवाल ने बताया कि जिले में गुरूवार से कुल 1163.8 मिमी बारिश हुई है और निचले इलाके पानी में डूब गये हैं और मुख्य सड़कों के ऊपर से जल का बहाव जारी है.

मुख्यमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि स्थिति की समीक्षा करने के बाद मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने मलकानगिरी जिला प्रशासन को प्रभावित लोगों तक पहुंचने तथा सभी तरह की सहायता मुहैया कराये जाने का निर्देश दिया है. उन्होंने बताया कि पटनायक ने सात दिन के लिए जिले में हर व्यक्ति को 60 रूपये प्रतिदिन और 12 साल से कम उम्र के प्रत्येक बच्चे को 45 रूपये प्रतिदिन के हिसाब से सहायता राशि स्वीकृत की है। भुवनेश्वर के मौसम विज्ञान केन्द्र निदेशक एचआर विश्वास ने बताया कि उत्तर - पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना चक्रवाती तूफान ‘दाय’ शुक्रवार सुबह दक्षिण ओडिशा तथा गोपालपुर के पास पड़ोसी राज्य आंध्रप्रदेश के तट को पार गया है.  उन्होंने बताया कि चक्रवात 26 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से पश्चिम-उत्तर पश्चिम दिशा की ओर बढ़ता रहेगा और कमजोर पड़ जायेगा.

पूरे हफ्ते कहां-कहां होगी बारिश 

22 सितंबर को मौसम का हाल

भारी बारिश : राजस्थान,  मध्य प्रदेश, असम, मेघालय, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, कोंकण-गोवा, जम्मू-कश्मीर

23 सितंबर को मौसम हाल

भारी बारिश : उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश

24 सितंबर को मौसम का हाल

भारी बारिश : हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, असम-मेघालय और तमिलनाडु

25 सितंबर को मौसम का हाल

भारी बारिश : हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, असम-मेघालय और तमिलनाडु

अरब सागर में चक्रवाती दबाव से मुंबई में बारिश, जारी किया गया अलर्ट

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की वरिष्ठ निदेशक शुभांगी भुटे ने बताया कि गुजरात के तट पर चक्रवाती दबाव से बेहद नमी उत्पन्न हुई जिससे महाराष्ट्र के अधिकतर हिस्सों में बादल निर्मित हो गए हैं.

गुजरात के तट के निकट अरब सागर में चक्रवाती दबाव बनने से निकटवर्ती महाराष्ट्र के मुंबई और आस-पास के जिलों में बारिश हुई. बारिश होने से मुंबई और आस-पास के क्षेत्रों के तापमान में गिरावट आई है. सुबह मुंबई और निकटवर्ती इलाकों में हल्की से तेज बारिश हुई. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की वरिष्ठ निदेशक शुभांगी भुटे ने बताया कि गुजरात के तट पर चक्रवाती दबाव से बेहद नमी उत्पन्न हुई जिससे महाराष्ट्र के अधिकतर हिस्सों में बादल निर्मित हो गए हैं. उन्होंने कहा कि इसके कारण मुंबई सहित राज्य के अनेक हिस्सों में मध्यम तीव्रता की बारिश के आसार हैं. इसके अलावा अगले दो दिन में मराठवाड़ा और विदर्भ में भी मध्यम बारिश के आसार हैं. उन्होंने बताया कि इस दबाव के कारण मानसून अभी गया नहीं है और रबी की फसल के लिए यह फायदेमंद है.

गौरतलब है कि इस बार मुंबई में भारी बारिश और हाई-टाइड की वजह से तीन लोगों की मौत हो गई थी. तेज़ बरसात के चलते जहां पहाड़ों में कई जगह भूस्खलन, बादल फटने की खबर है. वहीं गुजरात, महाराष्ट्र में हाई टाइड से समंदर किनारे गांवों में जिस तरह पानी घुस गया है उससे लोग परेशान हैं. पिछले 24 घंटे में उत्तराखंड के चमोली में जहां बादल फटा है. वहीं केरल में 24 घंटे में 4 लोगों की मौत हुई है. केरल के कोझिकोड में 2, अलापुझा में 1 और 1 की मौत कन्नूर में हुई है. वहीं गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, छत्तीसगढ़ में रेड अलर्ट है यानी जहां तेज़ बारिश की संभावनाएं हैं.

Comments