1. मौसम

Gulab Cyclone Alert: मानसून अभी भी रहेगा सक्रिय, गुलाब चक्रवात की वजह से भारी बारिश की संभावना!

सितंबर माह समाप्ति की ओर है, लेकिन बारिश का दौर ज्यादातर राज्यों में अभी भी जारी है. हर साल 30 सितंबर तक लगभग-लगभग मॉनसून की विदाई हो जाती है, लेकिन इस बार मौसम विभाग के मुताबिक, अक्टूबर माह के पहले सप्ताह तक मानसून की वापसी हो जाएगी. इसके अलावा, बंगाल की खाड़ी में उठ रहे गुलाब चक्रवात (Gulab Cyclone) की वजह से पश्चिम बंगाल (West Bengal) समेत कई राज्यों में बारिश की संभावना बन रही है.

मनीशा शर्मा
rain
Weather Update

सितंबर माह समाप्ति की ओर है, लेकिन बारिश का दौर ज्यादातर राज्यों में अभी भी जारी है. हर साल 30 सितंबर तक लगभग-लगभग मॉनसून की विदाई हो जाती है, लेकिन इस बार मौसम विभाग के मुताबिक, अक्टूबर माह के पहले सप्ताह तक मानसून की वापसी हो जाएगी. इसके अलावा, बंगाल की खाड़ी में उठ रहे गुलाब चक्रवात (Gulab Cyclone) की वजह से पश्चिम बंगाल (West Bengal)  समेत कई राज्यों में बारिश की संभावना बन रही है.

वहीं, बीते कुछ घंटों में पश्चिम बंगाल के कई इलाकों में भारी बारिश हुई है. इस पर मौसम विभाग का कहना है कि म्यांमार तट के आस-पास सोमवार को यानि आज चक्रवाती क्षेत्र बन सकता है. जिसके प्रभाव से आने वाले 24 घंटे में निम्न दबाव का क्षेत्र विकसित होगा.  जिससे कोलकाता, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्वी और पश्चिमी बर्द्धमान, हावड़ा, बांकुड़ा और पुरुलिया जिलों के आस – पास के स्थानों पर मंगलवार को भारी बारिश होने की संभावना है.

ऐसे में आइए निजी मौसम एजेंसी स्काइमेट वेदर (Skymet Weather)  के मुताबिक जानते हैं, आगामी 24 घंटों के मौसम का पूर्वानुमान (Weather Forecast)

देशभर में बने मौसमी सिस्टम

उत्तर पश्चिम और उससे सटे पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान गुलाब, पिछले 6 घंटों के दौरान 10 किमी प्रति घंटे की गति से आगे बढ़ा है. 26 सितंबर को 5:30 बजे, यह लगभग 18.3 डिग्री अक्षांश और 87.3 देशांतर था, जो गोपालपुर से 270 किमी पूर्व दक्षिण पूर्व और कलिंगपट्टनम से 330 किमी पूर्व में था.

यह पश्चिम दिशा में आगे बढ़ेगा और मध्यरात्रि के आसपास कलिंगपट्टनम और गोपालपुर के बीच उत्तरी आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा के तट को पार कर सकता है. लैंडफॉल के समय हवा की गति 75 से 85 किमी प्रति घंटे से लेकर 90-100 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है.चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पूर्वोत्तर अरब सागर के ऊपर बना हुआ है.

मॉनसून की ट्रफ रेखा जैसलमेर, कोटा, रायपुर, पुरी और फिर पूर्व दक्षिण पूर्व की ओर से होकर चक्रवात गुलाब के केंद्र की ओर जा रही है. मध्य मध्य प्रदेश के उत्तरी भागों में चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है. 

27 सितंबर के आसपास पूर्वोत्तर और इससे सटे पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक और चक्रवात हवाओं के क्षेत्र के मंदिर की संभावना है, जो कम दबाव के क्षेत्र के गठन को प्रभावित कर सकता है.

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि

अगले 24 घंटों के दौरान, तटीय ओडिशा और तटीय आंध्र प्रदेश में कुछ भारी से बहुत भारी बारिश के साथ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. आंतरिक ओडिशा, छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, विदर्भ, मराठवाड़ा, तेलंगाना, मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, दक्षिण-पूर्व राजस्थान और गुजरात, केरल और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है.

पश्चिम बंगाल, झारखंड के कुछ हिस्सों, बिहार, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, लक्षद्वीप, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र और पूर्वोत्तर भारत में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. उत्तराखंड, तमिलनाडु और रायलसीमा में हल्की बारिश संभव है.

ऐसी ही मौसम सम्बंधित जानकारियां पाने के लिए जुड़े रहें हमारी कृषि जागरण हिंदी वेबसाइट के साथ...

English Summary: Gulab Cyclone Alert: Monsoon will still remain active, heavy rain likely due to Gulab Cyclone! Published on: 27 September 2021, 10:19 IST

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News