1. सफल किसान

इंजीनियरिंग छोड़ डेयरी फार्म से कमा रहे हैं लाखों रूपए, पढ़िए कौन है ये सफल किसान?

स्वाति राव
स्वाति राव

Dairy Farming

आज हम एक ऐसे किसान की सफलता की कहानी (Success Story) बताने जा रहे हैं, जिन्होंने अपना खुद का डेयरी फार्म का काम शुरु किया है. वह वर्तमान में इस फार्म से लाखों रूपए कमा रहे हैं. आइए इस सफल किसान की कहानी जानते हैं.

दरअसल, हम सफल किसान जयगुरु आचार हिंदर की बात कर रहे हैं, जिन्होंने इंजीनियरिंग की छोड़कर खेती और डेयरी का काम शुरू किया. पहले हिंदर एक प्राइवेट कंपनी काम करते थे. उन्होंने विवेकानंद कॉलेज ऑफ इंजिनियरिंग दक्षिण कन्नड़ के पुत्तुर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है.

कैसे की डेयरी फार्म की शुरुआत? (How To Start Dairy Farm?)

हिंदर का कहना है कि उन्हें डेयरी फार्म (Dairy Farm) का कम करने की प्रेरणा अपने पिता से मिली है. जब भी अपनी नौकरी से घर आते थे, तो अपना बाकी का समय गाय की सेवा और खेती का कम करते थे. मगर समय के साथ–साथ उनकी इस काम में रूचि बढ़ती गई. इसके बाद उन्होंने डेयरी फार्म शुरू किया.  

डेयरी फार्म के साथ करते हैं अखरोट की खेती (Walnut Farming With Dairy Farm)

आपको बता दें कि हिंदर अपने डेयरी फार्म के साथ–साथ अखरोट की खेती भी करते हैं. हिंदर का कहना है कि वह गाय के गोबर से लेकर दूध तक बेचकर लाखों रूपए महीने कमा रहे हैं. उन्हें प्रति महीने 750 लीटर दूध मिल जाता है, जिससे वह अच्छा मुनाफा कमा लेते हैं. इसके अवाला दूध से बने घी से भी अच्छा पैसा कमा रहे हैं.

यह खबर भी पढ़ें - जैविक खेती ने दिखाई सपना देवी को सफलता की राह

मरी हुई गाय से बनाते हैं आर्गेनिक खाद (Organic Manure Made From Dead Cow)

किसान का कहना है कि वह गाय से आर्गेनिक खाद (Organic Manure) बनाने का काम भी करते हैं. जब गाय मर जाती हैं, तो उनको वह कुछ दिनों के लिए एक कमरे में रख देते हैं. गाय के शरीर पर गौ मूत्र,  छाछ और पानी के साथ कुछ अन्य केमिकल्स मिलाते हैं

जब गाय का शरीर डीकंपोस (Decompose) हो जाती है. तब वह एक आर्गेनिक खाद तरल के रूप में बदल जाता है. इस तरह किसान आर्गेनिक खाद तैयार करते हैं, जो फसलों के लिए अच्छी खाद है.

English Summary: leaving engineering studies, hinder is earning lakhs of rupees from dairy farm business

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters