Rural Industry

लॉकडाउन खत्म होते ही शुरू करें यह बिजनेस, होगी अच्छी कमाई

कोरोना वायरस की वजह से लगे लॉकडाउन में कई लोगों का रोजगार छिन गया है. इस स्थिति ने कई बिजनेस को ठप कर दिया है. ऐसे में कई लोग लॉकडाउन के खुलते ही अपना कोई नया बिजनेस (Business) शुरू करना चाहते होंगे. अगर आप भी ऐसा सोच रहे हैं, तो नोटबुक बनाने का बिजनेस (Notebook Manufacturing) शुरू करना एक बेहतर विकल्प रहेगा. लॉकडाउन के खत्म होने के बाद जब स्कूल, ऑफिस, दुकान समेत पूरा देश खुलेगा, तो इस बिजनेस से बहुत अच्छी कमाई होगी.

नोटबुक के बिजनेस में सरकारी मदद

यह बिजनेस एजुकेशनल सीजन में बहुत अच्छा चलता है, क्योंकि इस वजह में नोटबुक की मांग काफी बढ़ जाती है. अगर आप अभी यह बिजनेस करना चाहते हैं, तो केंद्र सरकार भी आपकी मदद करेगी. बता दें कि नोटबुक का बिजनेस एमएसएमई योजना से जुड़ा हुआ है. इसके तहत बिजनेस शुरू करने के लिए आपको सरकारी मदद मिल जाएगी. हाल ही में सरकार ने एमएसएमई सेक्टर को बड़ी राहत भी दी है.

बिजनेस में लगने वाली लागत

इस बिजनेस को शुरू करने में कम से कम 4 लाख रुपए की लगात लगानी पड़ सकती है. इसके लिए आप बैंक से लोन भी अप्‍लाई कर सकते हैं. बता दें कि आप 9 लाख रुपए वर्किंग कैपिटल लोन और 3.50 रुपये का टर्म लोन ले सकते हैं. खास बात है कि हर जगह नोटबुक, नोट पैड या रिकॉर्ड बुक की मांग रहती है. इसकी जरूरत स्कूल, कॉलेज, ऑफिस समेत कई जगह रहती है. इसके साथ ही घरों में भी कई नोटबुक को कई कामों में उपयोग किया जाता है. ध्यान दें कि  यह बिजनेस गुणवत्ता पर ज्यादा निर्भर होता है. इस बिजनेस को शुरू करने के लिए 500 वर्गफुट तक का स्पेस रेंट पर ले सकते हैं. यहां आपको मशीनरी सेट-अप करना होगा. यह बिजनेस बहुत अच्छा मुनाफ़ा देगा.

ये खबर भी पढ़े: ई-नाम पोर्टल से जुड़ी देश की 1000 मंडियां, किसानों को वन नेशन वन मार्केट से होगा लाभ



English Summary: Start notebook making business after lockdown

कृषि पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन दिखाएं..!!

प्रिय पाठक, हमसे जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे पाठक हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। हमें कृषि पत्रकारिता को और सशक्त बनाने और ग्रामीण भारत के हर कोने में किसानों और लोगों तक पहुंचने के लिए आपके समर्थन या सहयोग की आवश्यकता है। हमारे भविष्य के लिए आपका हर सहयोग मूल्यवान है।

आप हमें सहयोग जरूर करें (Contribute Now)

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in