1. ग्रामीण उद्योग

Agri Business Idea: हर माह कमाना चाहते हैं अच्छा पैसा, तो मिर्च की खेती कर कमाएं मुनाफा

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
​C​​​​​hilli Cultivation

​C​​​​​hilli Cultivation

मिर्च बहुत तीखी होती है, लेकिन इसके बिना खाने का स्वाद अधूरा रहता है. वैसे आमतौर पर इसका उपयोग खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए होता है, लेकिन हाल में कई शोध हुए हैं, जिनमें इस बात का दावा किया गया है कि हरी मिर्च खाने से स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से छुटकारा मिलता है. ऐसे में मिर्च की खेती (Green Chilli Cultivation) से अच्छी कमाई कर सकते हैं.

जी हां, तीखी मिर्च आपकी जिंदगी में मिठास घोल देगी. आप हरी और लाल मिर्च की खेती कर  बेच सकते हैं. इसकी खेती से 9 से 10 माह में लाखों रुपए कमा सकते हैं. मगर इसकी खेती में कई बातों का खास ध्यान रखना होगा. जैसे कि खेत कैसा होना चाहिए, सिंचाई कैसे करें और उर्वरक आदि. ऐसे में अगर आप मिर्च की खेती कर पैसा कमाना चाहते हैं, तो मिर्च की खेती कर इसका बिजनेस करना भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है, लेकिन उसके लिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ते रहिए.

मिर्च की खेती में लागत (Cost of chilli cultivation)

अगर आप एक हेक्टेयर में मिर्च की खेती करना चाहते हैं, तो इसके लिए लगभग 7 से 8 किलो मिर्च के बीज की आवश्यकता पड़ती है. आपको इन बीजों की कीमत 20 से 25 हजार रुपए तक पड़ जाएगी. अगर आप हाइब्रिड बीज लगाते हैं, तो इसका खर्च 35 से 40 हजार रुपए तक जा सकता है.

मान लिया जाए कि आपने हाइब्रिड मगधीरा बीज लगाए, जिसमें लगभग 40 हजार रुपए की लागत लगी. इसके बाद खेत में मल्चिंग करना, खाद डालना, सिंचाई, उर्वरक, कीटनाशक, हार्वेस्टिंग, मार्केटिंग का कार्य करना होता है. ऐसे में आपके लिए एक हेक्टेयर में लगने वाली लागत लगभग 2.5 - 3 लाख रुपए तक खर्च पहुंच सकती है.

मिर्च की खेती करने का तरीका  (How to grow chilli)

आप साल में कभी भी मिर्च की खेती कर सकते हैं. इसकी खेती बेड़ बनाकर की जाती है. ध्यान रहे कि आपको मिर्च की अलग-अलग किस्मों के हिसाब से देखभाल करना है.

इसके लिए आप  किसी कृषि विशेषज्ञ की सलाह ले सकते हैं. वैसे मिर्च की खेती के लिए गर्म और आर्द्र जलवायु उपयुक्त रहती है और आप किसी भी तरह की मिट्टी में खेती कर सकते हैं. मगर ध्यान रहे कि आप मिर्च की खेती के लिए उन्नत किस्मों का चयन करें.  

नर्सरी से मिर्च की पौध लेना  (Getting chilli seedlings from nursery)

अगर आप खुद नर्सरी नहीं लगाना चाहते हैं, तो किसी अच्छी नर्सरी से मिर्च की पौध ले सकते हैं. बता दें कि मिर्च के पौधों को 2-2 फुट की दूरी पर लगाएं. इसके साथ ही दो बेड़ के बीच में लगभग 2-3 फुट की जगह रखें.

मिर्च के पौधों का रखें खास ख्याल (Take special care of chilli plants)

जानकारी के लिए बता दें कि मिर्च के पौधों के बीच में जगह होनी चाहिए, ताकि हवा आती-जाती रहे. इसके साथ ही पौधों में जल्दी बीमारी भी नहीं लगती है. इसके अलावा, रोजाना पौधों को देखते रहें कि उनमें किसी भी तरह का रोग न लगे. अगर रोग लगता है, तो बिना देर किए पौधों पर स्प्रे करें, नहीं तो फसल का उत्पादन गिर सकता है.

इतने दिनों में मिलती है फसल (Crop is available in so many days)

अगर आप मिर्च के हाइब्रिड पौधे लगाते हैं, तो पौधे 60 से 70 दिन में कटाई के लिए तैयार हो जाते हैं. इससे 9 से 10 माह तक फसल मिलती है.

मिर्च की खेती से उत्पादन और मुनाफा (Production and profit from chilli cultivation)

आपको बता दें कि बाजार में मिर्च की कीमत अलग-अलग समय में बदलती रहती है. बता दें कि यह कीमत 30 से 80 रुपए तक हो जाती है. मान लिया जाए कि आपको एक हेक्टेयर से मगधीरा हाइब्रिड मिर्च का लगभग 250-300 क्विंटल तक उत्पादन मिल गया.

इसकी कीमत बाजार में 50 रुपए प्रति किलो के हिसाब से मिल गई, तो इस तरह लगभग 300 क्विंटल मिर्च से लगभग 15 लाख रुपए तक की कमाई हो सकती है. कुल मिलाकर आप एक हेक्टेयर से लाखों रुपए की कमाई कर सकते हैं.

जब फसल का उत्पादन प्राप्त होने लगे, तब आप अपनी उपज को मंडी में बेच सकते हैं. इसके अलावा मिर्च को पाउडर के रूप में भी बेच सकते हैं इससे आपको अच्छा मुनाफा प्राप्त होगा.

बता दें कि मिर्च की खेती में बहुत से लोग हाथ आजमा रहे हैं, क्योंकि इससे काफी अच्छा मुनाफा मिल जाता है. अगर आप भी इसकी खेती करते हैं, तो आपको हर माह अच्छा मुनाफा मिल सकता है.

English Summary: start a business with chilli cultivation and earn profit

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News