1. ग्रामीण उद्द्योग

Profitable Business Idea: महज 50 हजार रुपए में शुरू करें ये व्यवसाय, होगी बंपर कमाई

small busniess

कोरोना महामारी और लॉकडाउन की वजह से गरीबों से लेकर कारोबारियों तक को काफी नुकसान हुआ है, जिनमें ऐसे कई कारोबार हैं जो पूरी तरह डूब गए. लेकिन, ऐसे भी कारोबार है जिनकी स्थिति अब वापस बेहतर होती दिखाई दे रही है. आज हम अपने इस लेख में एक ऐसे ही कारोबार की बात कर रहे हैं, जो आप आसानी से कम निवेश में शुरू कर भविष्य में अच्छी खासी कमाई कमा कर सकते हैं तो आइए जानते हैं इस व्यवसाय के बारे में....

देश में अब चिकन और अंडे की मांग फिर से बढ़ने लग  गई  में है. यही वजह है कि मुर्गी पालन  कमाई का एक अच्छा अवसर है. इसे आप छोटे स्तर से लेकर बड़े स्तर तक ले जा सकते हैं. इसे आगे बढ़ाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें भी लोन और ट्रेनिंग सुविधा प्रदान कर रही हैं. आप  प्रोसेसिंग, प्रजनन, पालन और हैचिंग प्रक्रियाओं में निवेश कर सकते है.

business

कितना आता है खर्च

इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए कई फाइनेंशियल संस्थानों से आप बिज़नेस लोन ले सकते है. अगर आप छोटे स्तर पर फार्म शुरू करना चाहते हैं तो आप न्यूनतम 50 हजार रुपए से लेकर 1.5 लाख रुपए तक का खर्च आता है और बड़े स्तर पर करीब 1.5 लाख रुपए से लेकर 3.5 लाख रुपए तक  खर्च आता है.

इतना मिलता है लोन:

इस व्यवसाय के लिए आप सरकारी बैंक से लोन प्राप्त कर सकते हैं. SBI बैंक इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए कुल लागत का 75 फीसद तक लोन प्रदान करता है. जिसमें 5 हजार मुर्गियों के फार्म के लिए 3 लाख रुपए तक का लोन  दिया जाता है. यह लोन 5 साल में लौटाना होता है. अगर आप किसी कारणवश  5 साल में लोन नहीं चुका पाते हैं तो आपको 6 महीने का और समय दिया जाता है.

ये खबर भी पढ़े: Zero investment Women Business: महिलाएं बिना निवेश के घर में शुरू करें ये 3 बिजनेस होगी मोटी कमाई !

idea

इतने फीसद मिलती है सब्सिडी :

इस व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए सरकार लोन देने के साथ सब्सिडी भी प्रदान करती है. मुर्गी पालन के लिए सरकार 25 फीसद तक सब्सिडी देती है. जबकि एससी/एसटी वर्ग के लोगों के लिए सरकार 35 फीसद  तक सब्सिडी प्रदान करती है.

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News