Rural Industry

खेती के साथ शुरू करें ज्यादा कमाई वाले ये 6 व्यवसाय, होगा लाखों रुपए का मुनाफ़ा !

हमारे देश में अधिकतर किसान और ग्रामीण क्षेत्र के लोगों का जीवन खेती या पशुपालन पर निर्भर होता है. आज के समय में खेती के साथ पशुपालन कर अच्छा पैसा कमाया जा सकता है. यह सबसे शानदार कामों में से एक है. आज हम आपको पशुपालन से जुड़े ऐसे 6 व्यवसाय की जानकारी देने वाले हैं, जिन्हें खेती के साथ करके आप अपनी आमदनी में इजाफा कर सकते हैं.

डेयरी फार्मिंग (Dairy farming)

आज के समय में दुधारू पशु पालकर डेयरी का काम करना बहुत आसान हो गया है. खास बात है कि इससे खेती के लिए खाद भी मिल जाती है. इस काम को सरकारी मदद से शुरू कर सकते हैं, तो वहीं नाबार्ड भी लोन पर सब्सिडी मुहैया कराता है. बाजार में हमेशा दूध और दूध से बने सामान की मांग बनी रहती है, इसलिए डेयरी फार्मिंग का कारोबार पैसा कमाने का एक बेहतर विकल्प है.

बकरी पालन (Goat farming)

यह पशुपालन का एक अहम हिस्सा है, जिससे दूध और मांस, दोनों की आपूर्ति होती है. आप बकरी पालन को बहुत छोटे स्तर पर आसानी से शुरू कर सकते हैं. इसके लिए कम जगह और कम पूंजी के साथ ही अच्छी देखभाल की जरूरत होती है. आजकल शहरों में भी बकरी के दूध की मांग बनी रहती है, इसलिए इसका दूध भी काफी महंगा बिकता है.ऐसे में बकरी पालन का करोबार अच्छा मुनाफ़ा देगा.

ये खबर भी पढ़े: 15 लीटर तक दूध देती है भैंस की यह नस्ल, 12 से 13 माह पर होती है गाभिन

बटेर पालन (Quail farming)

बटेर पक्षी के मांस और अंडे की बाजार में काफी मांग रहती है. मुर्गी पालन से कम लागत और कम समय में बटेर पक्षी तैयार हो जाता है. बटेर एक साल में तीन से चार पीढ़ियों को जन्म दे सकने की क्षमता रखती है. मादा बटेर 45 दिन की आयु से ही अण्डे देना शुरू कर देती है. एक मुर्गी के लिए स्थान में 8 से 10 बटेर रखे जा सकते हैं.

मुर्गी पालन (Poultry farming)

इसके अंडे और मांस की मांग लगतार बढ़ती जा रही है. इस काम को छोटे स्तर या बड़े पैमाने पर शुरू कर सकते हैं. अगर छोटे किसानों की बात करें, तो वह घर के पिछवाड़े भी मुर्गी पालन कर सकते हैं. इसके लिए सरकार सब्सिडी भी देती है.

भेड़ पालन (Sheep farming)

अन्य पशुओं की तरह मांस और दूध के लिए भेड़ पालन भी किया जाता है. इससे सबसे बड़ा फायदा ऊन का है. भेड़ पालन ऊन, मांस और दूध के लिए किया जाता है. इसकी कई नस्लें होती हैं. खास बात है कि आप इनका पालन कम जगह और कम लागत में आसानी से कर सकते हैं.

मछली पालन (Fish farming)

खेती के साथ मछली पालन भी आसानी से किया जा सकता है. देश के पूर्वोत्तर राज्यों और बिहार में धान की खेती के साथ मछली पालन किया जाता है. अगर आप 1 एकड़ तालाब में मछली पालन करते हैं, तो सालाना 6 से 8 लाख रुपए तक की कमाई कर सकते हैं. खास बात है कि आप तालाब में मछली के साथ बतख पालन का काम भी कर सकते हैं.

ये खबर भी पढ़े: Agriculture Business Ideas: कम पूंजी में शुरू करें ये 4 कृषि आधारित व्यवसाय, हर महीना होगी अच्छी आमदनी



English Summary: business of animal husbandry along with farming will earn lakhs of rupees

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in