Others

क्या कहती है अगस्त में आपकी राशि, जानिए अपना राशिफल

vrish

राशियों का हमारे जीवन पर खास महत्व है. माना जाता है कि इंसानों की राशि उसके जन्म के समय चन्द्रमा की गति के अनुसार होती है. जन्म के समय चंद्रमा जिस राशि में होते हैं, वही राशि उस व्यक्ति की भी होती है. उदाहरण के लिए अगर जन्म के समय चन्द्रमा मेष राशि में है तो उस व्यक्ति की राशि भी मेष ही होगी. उसी तरह नाम के प्रथम अक्षर के मुताबिक भी राशियां निर्धारित होती है. जैसे अ,  र,  श,  ड,  ई, य, इ, ल, ओ से अगर आपका नाम शुरू होता है, तो आपका संबंध मेष राशि से है.

खैर यह महिना लगभग समाप्त हो गया है और अब से कुछ ही दीनों बाद नए महिनें की शुरूआत होने वाली है. आपके पास फिलहाल समय है कि अगले महिने की राशियों की गति को जानकर इस महिने से ही आप रणनीति तैयार कर लें. तो चलिए हम बताते हैं कि अगले महिने किस राशि के हिस्से क्या आ रहा है और किस राशि को अधिक मेहनत या सचेत रहने की जरूरत है.

वृष राशिफल

अगस्त महीना में लग्नेश शुक्र के तृतीय तथा चतुर्थ भाव में संचार करने से संतान को लेकर मानसिक तनाव बना रह सकता है. घर से दूर भी जाना पड़ सकता है, पढाई में बाधाओं का सामना करना पर सकता है, कुछ आर्थिक परेशानियां भी बनी रहेंगी, बौद्धिक विक्षिप्तता की स्थिति वा मानसिक कष्ट सम्भव है, निकट बंधुओं से तकरार होगी. शनि की ढैय्या के प्रभाव से संतान संबंधी चिंता बनी रहेगी, अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें.

kark Orignal

मेष राशिफल

इस माह अगस्त के प्रथम सप्ताह में आपको सबसे अधिक अपने पारिवारिक मामलों पर ध्यान देने की जरूरत है. मंगल, सूर्य, बुध तथा शुक्र के चतुर्थ भाव में रहेंगें, जिस कारण घरेलू उलझनों का सामना करना पड़ सकता है.

मिथुन राशिफल

मिथुन राशि वालों के लग्न में राहु तथा दूसरे भाव में बुध, शुक्र और सूर्य की युति बनी हुई है, जिस कारण घर-परिवार के मामलों में कुछ अस्थिरता बनी रहेगी. वहीं आर्थिक हालातों में भी कुछ अनिश्चितता देखने को मिल सकती  है.

कर्क राशिफल

इस महीने आपको किसी भी बड़े निवेश से बचना चाहिए. क्योंकि इस महीने व्यवसाय एवं नौकरी में स्थिति ज्यादा मुनाफे की ना होकर के मात्र मध्यम ही रहेगी. क्रोध एवं उत्तेजनात्मक वाणी आपका नुकसान कर सकती है, इसलिए ऐसा करने से बचें.

सिंह राशिफल

यह महिना नए मौके लेकर आ सकता है, लेकिन खर्चों पर नियंत्रण रखना आवश्यक है. स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहे क्योंकि इन्फेक्शन, हड्डियों का दर्द एवं  ह्रदय सम्बन्धी रोगों के योग बनते दिख रहे हैं.



Share your comments