भारत में पहली बार पाया गया यह कीट, देश में खेती और किसानों को हो सकता है बड़ा नुकसान

फाल आर्मीवार्म कीड़ा का नाम हो सकता है आपने पहली बार सुना हो लेकिन इसका नाम आपको अपने  ज़हन में बसा लेना बहुत ही जरूरी है. यह कीड़ा फसलों को काफी नुकसान पहुंचाने वाल कीड़ा है. दरअसल पिछले दिनों इस कीड़े ने अफ्रीका में काफी तबाही मचाया था और इसके बाद अब इसकी मौजूदगी भारत सहित दक्षिण पूर्वी एशिया के कई देशों और दक्षिण चीन में देखी दई है. खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ) ने आगाह किया है कि 80 से ज्यादा अलग-अलग पादप प्रजातियों को चट कर जाने वाला यह कीड़ा भारत की खाद्य सुरक्षा के लिए एक बड़ा खतरा बन सकता है क्योंकि इन पादप प्रजातियों में कई मुख्य फसलें शामिल हैं जिनपर लाखों की आजीविका निर्भर है. इस कीट को भारत में पहली बार कर्नाटक के शिवमोगा जिले में पहली बार देखा गया था.

 

खाद्य एवं कृषि संगठन के अनुसार इस कीट के भारत में होने की मौजूदगी अभी हाल ही में पता चला है. और संगठन ने चिंता जताई है कि अफ्रीका में घुसपैठ करने के बाद यह कीड़ा पूरे दक्षिणी-पूर्वी एशिया और दक्षिण चीन में इसके फैलने की संभावना है. यह संस्था इन देशों की सरकारों और किसानों को इससे बचाने की अपनी विशेष मदद की पेशकश भी कर रही है. एफएओ के कुछ प्रतिनिधि के अनुसार इस कीट से एशिया में मक्का और चावल के किसानों को काफी नुकसान हो सकता है. इसमें ज्यादातर छोटे किसान भोजन और आजीविका के लिए इन्हीं फसलों पर आश्रित हैं.

यह कीड़ा मुख्य रूप से अमेरिका का है और पिछले दो साल तक इसने अफ्रिका में तबाही मचाई उसके बाद यह नाइजीरिया में भी देखा गया था. आज भारत में इसकी पहचान वाकई में काफी खतरनाक साबित हो सकता है. 

कृषि जागरण डेस्क

Comments