News

नहीं पसंद LIC पॉलिसी तो ऐसे ले सकते हैं अपना पैसा वापस, जाने पूरी प्रक्रिया

आज कल हर कोई चाहता है निवेश करना, इसलिए लोग कई तरह की योजनाओं का लाभ लेने के लिए अलग-अलग पॉलिसी खरीद लेते है. लेकिन खरीदने के बाद कई बार वे उससे संतुष्ट नहीं हो पाते है. जिस वजह से वह परेशान रहते है कि उनकी मेहनत की कमाई कही ख़राब न हो जाए. अगर आप भी ऐसी किसी टेंशन से परेशान है तो भूल जाए परेशानी.

आज हम आपको एक ऐसा तरीका बताएंगे हैं, जिसके जरिए आप पॉलिसी लेने के बाद भी उस पॉलिसी में निवेश किया पैसा वापस पा सकेंगे. जी हाँ हम बात कर रहे हैं, फ्री-लुक पीरियड(Free-look period) की जिसके द्वारा आप पॉलिसी इशू होने के बाद 15 दिनों के अंदर-अंदर उसे कैंसिल कर अपना पैसा कंपनी से वापस मांग सकते हैं. बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (IRDAI) के दिशानिर्देशों के अनुसार ग्राहक को फ्री-लुक अवधि में पॉलिसी कैंसिल कराने एवं अपना पैसा वापस मांगने का पूरा हक है.

केवल इन पॉलिसी पर होगी लागू

फ्री-लुक अवधि केवल 3 साल की जीवन बीमा पॉलिसी या फिर स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी पर ही लागू की जाएगी. इस अधिकार का प्रयोग पॉलिसी धारक पॉलिसी के दस्तावेज प्राप्त होने के 15 दिनों के अंदर ही कर सकता है.

कैसे करे प्राप्त फ्री लुक अवधि का लाभ

पॉलिसीधारक बीमा कंपनी को फ्री-लुक अवधि की दिशा में काम करने के लिए लिख सकता है. आप कंपनी की वेबसाइट से भी फ्री लुक फार्म डाउनलोड कर सकते हैं. जिसमें पॉलिसीधारक को पॉलिसी के दस्तावेज(Document) मिलने की तारीख, एजेंट की पूरी जानकारी और रद्द करने या उसे बदलने के कारण के बारे में पूरी जानकारी देनी होगी. इसके साथ ही पॉलिसी के मूल दस्तावेज या फिर पहले प्रीमियम की रसीद(Premium Receipt) और एक कैंसिल चेक(Cancel cheque) और अन्य दस्तावेज जमा भी जमा करवाने होंते हैं.

कैसे करे कंपनी के जरिए पॉलिसी कैंसल

अगर आप अपनी पॉलिसी कैंसल करना चाहते है, तो एजेंट को न कहे, क्योंकि एजेंट इस प्रोसेस को पूरा करने में देरी कर सकता है. इसलिए आप सीधा सम्पर्क कंपनी से करे. क्योंकि पॉलिसी कैंसलेशन ऐप्लिकेशन जमा करने के लिए आपको सीधा कंपनी के दफ्तर जाना पड़ेगा. कई कंपनियां है जो वेबसाइट्स पर कैंसलेशन फॉर्म(Cancelation form) डालकर रखती हैं, जिसे डाउनलोड किया जा सकता है.

प्रीमियम का फुल रिटर्न नहीं मिलेगा

अगर आप पॉलिसी कैंसलेशन करवाते है तो आपके प्रीमियम की पूरी रकम का  रिफंड नहीं होगी. अगर आप फ्री-लुक पीरियड के दौरान पॉलिसी रिटर्न करते हैं, तो भी कंपनी मेडिकल टेस्ट और स्टांप ड्यूटी के खर्च के पैसे काटकर ही आपको पैसे देगी.



Share your comments