News

ड्रैगन फ्रूट की खेती से किसानों को हो रहा भारी मुनाफा

ड्रैगन फ्रूट को ड्रैगन मोती फल और पिताया भी कहा जाता है. यह एक उष्ण कटिबंधीय फल होता है. ड्रैगन फ्रुट के लाभों में एंटी-एजिंग, इम्यून सिस्टम बूस्टिंग, और रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में शामिल है. यह फ्रूट कैंसर और मधुमेह रोगियों के लिए काफी ज्यादा लाभकारी होता है. इसीलिए हरियाणा में इस फल की पहली बार खेती पानीपत के एक गांव सिवाह के रहने वाले किसान रामप्रताप शर्मा ने शुरू कर दी है. इससे पहले से ही पंजाब राज्य में इस फल की खेती को किया जा रहा है. इस बारे में किसान रामप्रतापशर्मा का कहना है कि वह पिछले 30 सालों से खेती के कार्य को करने का कार्य कर रहे है. ड्रैगन फ्रूट की खेती के लिए बीज गुजरात से मंगवाया गया है. सबसे पहले कुल एक एकड़ में इसकी खेती को किया गया है. यह पौधे की बड़ी बेल होती है. इसके पौधे काफी सुंगधित होते है.

कुल 15 साल तक देता फल

इस फसल की खेती किसानों के लिए वरदान साबित होती है. यह पौधा दो साल में पनप पाता है. पहली बार यह फल 15 किलो तक फल देता है दूसरी बार में इसकी क्षमता बढ़कर अपने आप 25 किलो तक हो जाती है. उन्होंने एक एकड़ में कुल 1400 पौधे लगाने के काम को किया है. इस फल की  कीमत 150 रूपए किलो होता है.

ड्रैगन फ्रूट की खेती पर इतना खर्चा

किसानों की माने तो ड्रैगन  ड्रैगन  फ्रूट को लगाए जाने पर करीब 3 लाख रूपए का खर्चा आया है. इसके लिए गुजरात से विशेष रूप से प्रति हिसाब से पौधों को मंगवाया गया है. अगर इस पौधे की खेती की बात करें तो इस पौधे को 20 से 30 डिग्री तापमान में आसानी से उगाया जा सकता है. इससे कम या ज्यादा हो जाने पर इसके पौधे को सुरक्षा की जरूरत होती है.

ड्रैगन फ्रूट है लाभकारी

ड्रैगन फ्रूट को खाने के कई तरह के लाभ भी होते है. इसके सहारे रक्तचाप, खून बढ़ाने, कैंसर, बालों को त्वचा, कब्ज के लिए, पाचन के लिए और मधुमेह हेतु ड्रैगन ड्रैगन  फ्रूट काफी लाभकारी होता है. इसमें काफी मात्रा में कैलोरी, कैल्शियम, विटामिन बी 3, प्रोटीन, वसा, फास्फोरस, विटामिन समेत कई तरह के पोषक तत्व और खनिज होते है. इसके साथ ही कई डॉक्टरो के मुताबिक अगर आपको डेंगू हो गया है तो आपके लिए ड्रैगन फ्रुट काफी लाभकारी है.



Share your comments