गन्ना किसानों को भटकना पड़ रहा है पर्चियों के लिए

चीनी मिलों में पेराई शुरू होने के बाद भी गन्ना किसानों को पर्ची की समस्या का कोई हल नहीं मिल पा रहा है. मजबूरन किसानों को पर्चियों के लिए विभाग कार्यलयों के चक्कर काटने पड़ रहे हैं. प्रदेश के तकरीबन 85 हज़ार किसानों को अभी तक पर्चियां जारी नहीं की गईं हैं.  

किसानों को चीनी मिलें बंद होने की वजह से फसल के खेतों में खड़ा रहने की चिंता ने ही परेशान कर रखा है. इसके अलावा किसान पिछली फसल के भुगतान की समस्या का सामना कर रहे हैं. किसानों का कहना है कि मिलों में दलाल ज्यादा पैर पसार रहे है. उन्हें ही पर्ची जारी की जा रही है. भाकियू जिलाध्यक्ष विशन सिंह सिरोही, मांगेराम त्यागी, जगतवीर सिरोही ने  समिति के अधिकारीयों व कर्मचारियों पर आरोप लगाया है कि वह पर्चियों को लेकर गड़बड़ी कर रहे हैं. जिसकी वजह से किसानों को गन्ने की आपूर्ति में बहुत ज्यादा परेशानी उठानी पड़ रही है.

तो देखा आपने किस तरह किसानों को अपने हक के लिए लड़ना पड़ रहा है. किसानों से सम्बंधित ऐसी तमाम जानकारियों के लिए आप हमारी वेबसाइट पर क्लिक करें-

मनीशा शर्मा, कृषि जागरण

Comments