MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

Production of Major Crops for 2021-22: फसलों की उपज का दूसरा अनुमान जारी, 316.06 मिलियन टन हुआ उत्पादन

किसानों की मेहनत आखिरकार रंग लायी है. इस बात से किसान ही नहीं, बल्कि कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर भी काफी खुश है. आपको बता दें कि कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा वर्ष 2021-22 के लिए प्रमुख फसलों के उत्पादन का दूसरा अग्रिम अनुमान जारी किया गया है. जिसमें रिकॉर्ड खाद्यान्न उत्पादन (Food Production) 316.06 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है.

स्वाति राव
Production of Major Crops for 2021-22
Production of Major Crops for 2021-22

किसानों की मेहनत आखिरकार रंग लायी है. इस बात से किसान ही नहीं, बल्कि कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर भी काफी खुश है. आपको बता दें कि कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा वर्ष 2021-22 के लिए प्रमुख फसलों के उत्पादन का दूसरा अग्रिम अनुमान जारी किया गया है. जिसमें रिकॉर्ड खाद्यान्न उत्पादन (Food Production) 316.06 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है.

इस बात से केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Union Minister Of Agriculture And Farmers Welfare Narendra Singh Tomar) ने देश के किसानों का धन्यवाद किया है. उन्होंने कहा कि देश में खाद्यान्न उत्पादन का नया रिकॉर्ड किसानों की मेहनत, वैज्ञानिकों के नये – नये शोध और सरकार की किसान के हित के लिए चलायी जा रही योजनाओं का नतीजा है.

बता दें कि साल 2021-22 के दूसरे अग्रिम अनुमानों के अनुसार, देश में कुल खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड की 316.06 मिलियन टन होने का अनुमान है, जो कि साल 2020-21 के दौरान खाद्यान्न उत्पादन की तुलना में 5.32 मिलियन टन अधिक पैदावार देखी गयी है. वहीँ पिछले 2021-22 के दौरान उत्पादन पिछले पांच वर्षों की तुलना में में 25.35 मिलियन टन पैदावार अधिक हुई है.

मुख्य फसलों का अनुमानित उत्पादन (Estimated Production Of Main Crops)

मुख्य फसलें जिनका अनुमान पांच वर्ष की तुलना में इस वर्ष अधिक होने का अनुमान है. तो चलिए जानते हैं किन किन फसलों का कितना अनुमान है.

  • 2021-22 के दौरान चावल (Rice) का कुल उत्पादन 93 मिलियन टन रिकॉर्ड होने का अनुमान है. यह पिछले पांच वर्षों के 116.44 मिलियन टन के औसत उत्पादन की तुलना में 11.49 मिलियन टन अधिक है.

  • 2021-22 के दौरान गेहूँ (wheat) का उत्पादन रिकॉर्ड की बात करें तो 32 मिलियन टन होने का अनुमान है. यह औसत गेहूं उत्पादन 103.88 मिलियन टन से 7.44 मिलियन टन अधिक है.

  • पोषक/मोटे अनाज का उत्पादन 86 मिलियन टन अनुमानित है, जो औसत उत्पादन से 3.28 मिलियन टन अधिक है.

  • 2021-22 के दौरान कुल दलहन फसल का उत्पादन 96 मिलियन टन होने का अनुमान है, जो पिछले पांच वर्षों के औसत उत्पादन 23.82 मिलियन टन से 3.14 मिलियन टन अधिक है.

  • 2021-22 के दौरान देश में कुल तिलहन उत्पादन 15 मिलियन टन रिकॉर्ड होने का अनुमान है, जो 2020-21 के दौरान 35.95 मिलियन टन के उत्पादन की तुलना में 1.20 मिलियन टन अधिक है. इसके अलावा, 2021-22 के दौरान तिलहन का उत्पादन औसत तिलहन उत्पादन की तुलना में 4.46 मिलियन टन अधिक है.

  • 2021-22 के दौरान देश में गन्ने का कुल उत्पादन 04 मिलियन टन होने का अनुमान है, जो कि औसत गन्ना उत्पादन 373.46 मिलियन टन से 40.59 मिलियन टन अधिक है.

  • वहीँ कपास का उत्पादन की बात करें तो कपास में 06 मिलियन गांठ होने का अनुमान है, जो 32.95 मिलियन गांठ के औसत कपास उत्पादन की तुलना में 1.12 मिलियन गांठ अधिक है. जूट और मेस्टा का उत्पादन 9.57 मिलियन गांठ होने का अनुमान है.

English Summary: second advance estimate of production of major crops released, inflation will be controlled soon Published on: 18 February 2022, 03:33 PM IST

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News