1. ख़बरें

जलवायु परिवर्तन सहित अन्य चुनौतियों से निपटने के प्रति सरकार है गंभीर- कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर

स्वाति राव
स्वाति राव

किसानों की अथक मेहनत के दम पर आज कृषि निर्यात के मामले में भारत दुनिया में टॉप टेन में शामिल हुआ है. कोरोनाकाल में जब लगभग सभी उद्योग ठप्प हो गए थे तब भी देश के किसान काम कर रहे थे. किसानों ने कठिन समय में भी अपनी उपयोगिता सिद्ध की है.  यह बात केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने भारतीय उद्योग परिसंघ के 16 वें सतत विकास सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही.

कृषि मंत्री तोमर ने कहा कि - “ कृषि क्षेत्र में जलवायु परिवर्तन साहित्य अन्य चुनौतियां हैं, जिनसे निपटने के लिए भारत सरकार गंभीरता के साथ अपनी भूमिका का निर्वहन कर रही है. मौसम के असंतुलन से कहीं सूखा तो कहीं बाढ़ जैसी विपरीत परिस्थितियों के मद्देनज़र सरकार पुरी तरह गंभीर है. हमारे वैज्ञानिक बहुत शिद्दत के साथ समुचित बीज आदि को लेकर काम कर रहे है.”

उन्होंने बताया कि - केन्द्र सरकार ने देश के छोटे और मझौले किसानों के हितों का विशेष ध्यान रखा है. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत देश के 11 करोड़ से ज्यादा किसानों के बैंक खातों में लगभग एक लाख सत्तावन हजार करोड़ रुपये जमा कराए गए हैं.” प्रधानमंत्री ने प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (पीएलआई) स्कीम प्रारंभ की है, जो फूड प्रोसेसिंग सहित अन्य उद्योगों के लिए लाभदायक सिद्ध होगी.

किया जा रहा है खेतों के पास बुनियादी ढांचे का विकास

कृषि मंत्री ने बताया कि - छोटे व मझौले किसानों के लिए खेती को लाभकारी बनाने की दिशा में सरकार के ठोस कदमों के तहत खेतों के पास बुनियादी ढांचे का विकास किया जा रहा है. इस संबंध में एक लाख करोड़ रुपये का कृषि अवसंरचना कोष बनाया गया है, जिसके जरिये प्रोजेक्ट स्वीकृत किए जा रहे हैं.  अब तक चार हजार करोड़ रूपये से अधिक के प्रोजेक्ट्स मंजूर हो चुके हैं

देश में 10 हजार किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) का गठन केंद्र की नई योजना के अंतर्गत किया जाएगा, जिसका काम प्रारंभ हो चुका है, जिससे किसानों को काफी सहायता मिलेगी, बेहतर बाजार मिलेगा और उनकी आय बढ़ेगी. किसानों के फायदे के लिए कृषि क्षेत्र को अत्याधुनिक तकनीकों से जोड़ा जा रहा है. देश में सत्तर से अधिक किसान रेल के साथ ही उड़ान योजना के माध्यम से भी किसानों को लाभ पहुंचाया जा रहा है.

सम्मेलन को डेनमार्क की पर्यावरण मंत्री ली वर्मेलिन व सीआईआई के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी व एडवायजरी काउंसिल (सतत विकास के लिए उत्कृष्टता केंद्र) के चेयरमैन संजीव पुरी ने भी संबोधित किया. कार्यक्रम में कई उद्यमियों ने  वर्चुअल रूप से सहभागिता की.

English Summary: agriculture minister addressed the 16th development conference of the confederation of indian industry

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News