प्रधानमंत्री देश के राष्ट्रऋषि का स्वरुप:बाबा रामदेव

आज प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने  बाबा रामदेव के हरिद्वार स्थित पतंजलि के अयूर्वेदिक रिसर्च सेंटर का उद्घाटन किया |इस उद्घाटन के समय बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण स्वयम उपलब्ध रहे |प्रधान मंत्री ने लैब में होने वाले एक एक कम को खुद से गहन तरीके से जानकारी प्राप्त की है |बाबा रामदेव ने प्रधानमन्त्री के संबोधन में कहा की भारत देश का गौरव बढाया है |प्रधानमन्त्री के माध्यम से जिस तरह से देश में हर क्षेत्र में विकास हो रहा है ऐसे एन प्रधानमन्त्री को देश के राष्ट्रऋषि का दर्जा मिलना चाहिए जिस प्रकार से प्रधान मंत्री ने हमारे भारत को विश्वगुरु का दर्जा दिलाया और साथ ही पुरे विश्व में भारत का लोहा मनवाया है |प्रधानमन्त्री के जनता के हित में किय जाने वाले सभी कार्य में हमारा भी सहयोग रहेगा इस सम्मान के अवसर पर बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण ने प्रधानमन्त्री को एक तस्वीर भेंट की |

प्रधान मंत्री ने यहाँ पर सभी लोगों स्वागत करते हुए कहा की आप लोगों के सम्मान और प्यार के साथ साथ केदारनाथ की धरती पर बाबा का दर्शन करने का जो आशीर्वाद मिला है|उससे नई उर्जा का संचार हुआ है क्योंकि जिससे आपको सम्मान मिलता है उनकी अपेक्षाएं आपके साथ जुडी होती है |बाबा रामदेव ने आज मुझे अचानक राष्ट्रऋषि का सम्मान दे कर मेरे ऊपर जिम्मेदारीयां बढा दी है|प्रधानमन्त्री ने कहा की देश के लोगों का मान ही मेरी उर्जा है |बाबा रामदेव के इस आयुर्वेदिक रिसर्च सेंटर में करीब 200 वैज्ञानिक अलग अलग जड़ी बूटियों पर अनुसंधान करेंगे इस अनुसंधान केंद्र के साथ बाबा रामदेव ने एक हर्बल गार्डन भी तैयार किया है |इस आयुर्वेदिक अनुसंधान केंद्र को बनानें में 200 करोड़ की लागत आई है |यह आयुर्वेदिक अनुसन्धान केंद्र देश का पहला सबसे बड़ा आयुर्वेदिक अनुसंधान केंद्र है       

Comments