1. ख़बरें

Kullu Dussehra: कुल्लू दशहरा उत्सव में शामिल होंगे पीएम मोदी, जानें क्यों है यहां का दशहरा खास

5 अक्टूबर को, हिमाचल प्रदेश की अपनी यात्रा के दौरान, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने एम्स, बिलासपुर का उद्घाटन करके राज्य को बड़ी सौगात दी और इसके बाद कुल्लू के प्रसिद्ध दशहरा उत्सव में भाग लेंगे. आइए जानते हैं कुल्लू दशहरे की प्रसिद्घ के पीछे का इतिहास..

देवेश शर्मा
कुल्लू दशहरा में पीएम मोदी
कुल्लू दशहरा में पीएम मोदी

हिमाचल के कुल्लू का दशहरा दुनिया भर में फेमस है इस दिन यहां पर बड़ी धूमधाम से दशहरा मनाया जाता है और रावण दहन देखने के लिए लोग दूर दूर से आते हैं. लेकिन इस बार कुल्लू का दशहरा सुर्खियों में है क्योंकि यहां पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जा रहे हैं.

बता दें कि पीएम अभी हिमाचल के दौरे पर हैं जिसमें उन्होंने पहले एम्स, बिलासपुर का उद्घाटन किया और अब कुल्लू के प्रसिद्ध दशहरा उत्सव में भाग लेंगे. इसके अलावा बीजेपी अध्यक्ष जे.पी. नड्डा, अनुराग ठाकुर, जयराम ठाकुर और सुरेश कश्यप भी पीएम के साथ रहेंगे.

कुल्लू के दशहरे का क्या है इतिहास

कुल्लू दशहरे के बारे में एक किंवदंती के अनुसार बताया जाता है कि 16वीं शताब्ती में कुल्लू में राजा जगत सिंह का शासन था. राजा को दुर्गादत्त के नाम से एक किसान के बारे में पता चला. जिसके बारे में कहा जाता था कि उसके पास बहुत कीमती मोती हैं. लेकिन उसके पास कोई असल के मोती नहीं बल्कि ज्ञान मोती थे. राजा ने लालच के कारण मोती न देने पर दुर्गादत्त को फांसी की सजा सुनाई, जिसके चलते दुर्गादत्त ने आत्महत्या कर और राजा को श्राप दिया कि "जब भी तुम खाओगे, तुम्हारा चावल कीड़े के रूप में दिखाई देगा, और पानी खून के रूप में दिखाई देगा".

ये भी पढ़ें: इन शहरों का दशहरा है दुनियाभर में फेमस, यहां जानें जगहों के नाम

राजा ने अपने श्राप को काटने के लिए एक ब्राह्मण से सलाह ली और ब्राह्मण ने बताया कि शाप को मिटाने के लिए, उसे राम के राज्य से रघुनाथ के देवता को पुनः प्राप्त करना होगा. राजा ने एक ब्राह्मण को अयोध्या भेजा और वहां से रघुनाथ के देवता को लाने के लिए कहा. ब्राह्मण जब कुल्लू देवता लेकर के आया तो राजा जगत सिंह ने देवता के चरण-अमृत पिया और उसका शाप हट गया. इस कथा के बाद यहां पर दशहरे के दिन रथ यात्रा निकाली गई. उसी के बाद से यह परंपरा चली आ रही है.

English Summary: pm modi will be the first prime minister to participate in the ancient Kullu Dussehra Published on: 05 October 2022, 02:54 IST

Like this article?

Hey! I am देवेश शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News