1. ख़बरें

PMAY: क्या प्लॉट मालिक को मिलता है पीएम आवास योजना का लाभ? जानिए क्या है योजना की शर्त

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

मोदी सरकार की प्रधानमंत्री आवास योजना को काफी महत्वाकांक्षी माना जाता है. क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम के तहत साल 2015 में शुरू हुई इस योजना की अवधि 31 मार्च 2021 तक बढ़ा दी गई है. सरकार की यह योजना आपको अपने सपनों का घर खरीदने में सहयोग करती है. यानी इस योजना के तहत होम लोन पर ढाई लाख रुपए तक की सब्सिडी मुहैया कराई जाती है. बता दें कि सरकार ने साल 2022 तक लगभग 26 राज्यों के लगभग 2,508 शहरों को इस योजना के तहत लाने का उद्देश्य रखा है.

प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ सैकड़ों लोग उठा रहे हैं, लेकिन फिर भी कई लोगों के मन में तरह-तरह के सवाल आते हैं. इस सभी सवालों का जवाब सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन से मिल जाता है. अक्सर लोगों के मन में सवाल आता है कि क्या प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ उन लोगों को मिल सरता है, जिनके पास पहले से ही प्लॉट या जमीन है. अगर आपके मन में भी यही सवाल उठता है, तो आपको बता दें कि जी हां प्लॉट या जमीन के मालिक बी  इस योजना के लिए पात्र माने जाते हैं. पीएम आवास योजना के तहत प्लॉट पर कंस्ट्रक्शन के लिए भी लाभ दिया जाता है. बता दें कि लाभार्थियों को इंडिविजुअल हाउस कंस्ट्रक्शन स्कीम के तहत पीएम आवास योजना में कवर किया जाता है. ऐसे लाभार्थियों को ब्याज पर छूट मिल सकती है.

ये खबर भी पढ़ें: अटल पेंशन योजना में हुए 5 बड़े बदलाव, जानिए क्या है नए नियम

आपको बता दें कि इस योजना के तहत मध्य आय वर्ग (MIG), कमजोर आय वर्ग (LIG) और आर्थिक पिछड़ा वर्ग (EWS) वर्ग के लोगों को होम लोन मुहैया करवाया जाता है. यह लोन बैंक से प्राप्त किया जा सकता है. इसके अलावा स्मॉल फाइनेंस बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, हाउसिंग फाइनेंस कंपनी, नेशनल हाउसिंग बैंक और हुडको के मदद से भी इस योजना का लाभ उठाया जा सकता है.

ये खबर भी पढ़ें: डेयरी बिजनेस में गाय की इन देसी, विदेशी और संकर नस्लों से मिलेगा मुनाफ़ा, जानिए दूध उत्पादन की क्षमता

English Summary: Plot owner also gets the benefit of PM housing scheme of Modi government

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News