MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

कृषि विज्ञान केंद्रों में होगा गौमूत्र का ट्रायल, बढ़ेगी मिट्टी की उपजाऊ क्षमता

रासायनिक खाद के इस्तेमाल से देश में बीमारियों ने अपने पांव पसार लिए है. आज के समय में हर घर मेंं तीसरे आदमी को कोई ना कोई बीमारी है. इसके आलवा रासायनिक खाद के इस्तेमाल से मिटटी की उपजाऊ क्षमता भी कम हो रही है. ऐसे में गौमूत्र से बनी खाद के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जा रहा है.

स्वाति राव
Cow Urine  Compost
Cow Urine Compost

अधिक रासायनिक खाद के इस्तेमाल की वजह से खेत की मिटटी की गुणवत्ता को नुकसान पहुँच रहा है. मिटटी की उपजाऊ क्षमता दिन पर दिन कम होती जा रही है. ऐसे में अब आर्गेनिक खाद (Organic Manure) के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जा रहा है.

देश के सभी राज्यों में आर्गेनिक खाद का इस्तेमाल करने पर जोर दिया जा रहा है, लेकिन अब खाद में गौमूत्र (Cow Urine In Compost) का इस्तेमाल किया जाएगा.

दरअसल, छत्तीसगढ़ के रायपुर में 27 कृषि विज्ञान केंद्रों में फसलों का प्रदर्शनी लगायी जा रही है, जिसमें सभी प्रकार की फसलों की प्रदर्शनी लगेगी. गौमूत्र से बनी आर्गेनिक खाद की गुणवत्ता जांचने के लिए प्रदर्शनी में शामिल सभी फसलों में गौमूत्र खाद का इस्तेमाल किया जाएगा.

विभाग की तरफ से मिली जानकरी में बताया गया है कि गौमूत्र से बनी आर्गेनिक खाद का ट्रायल कर हम  गौमूत्र के गुण और उपलब्ध तत्वों (Properties And Available Elements Of Cow Urine) की मात्रा के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे. इस बात की जानकारी रायपुर के इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, कामधेनु विश्वविद्यालय के साथ कृषि, पशुपालन व सहकारिता विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने एक की बैठक के दौरान दी. 

इसे पढ़ें- गोबर और कूड़े कचरे से बनी जैविक खाद से मिल रहा सब्जियों का बंपर उत्पादन

गौमूत्र से मिटटी होगी उपजाऊ (Soil will be Fertile With Cow Urine)

अधिकारियों का कहना है कि गौमूत्र में नाइट्रोजन की मात्रा अधिक पायी जाती है, एवं गौमूत्र में रोग प्रतिरोधक क्षमता भी अच्छी होती है, इसलिए इसके उपयोग से फसलों की उपज भी स्वास्थ्यवर्धक होगी.

सेहत भी सभी लोगों की अच्छी रहेगी, साथ ही मिटटी की उपजाऊ क्षमता भी अच्छी होगी. यूरिया के इस्तेमाल से कई तरह की बीमारियों का भी प्रकोप बढ़ जात है. उन्होंने राज्य के कृषि वैज्ञानिकों से यूरिया के स्थान पर गौमूत्र के उपयोग की वैज्ञानिक तकनीक विकसित करने का भी जानकारी दी है.

English Summary: Organic manure will increase the fertility of the soil, as well as improve health Published on: 04 March 2022, 05:34 PM IST

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News