MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

e-Office से किसान घर पर बैठे निपटा सकेंगे सरकारी काम, जानिए कैसे?

ई-ऑफिस कार्य प्रणाली (E-office System) ऑनलाइन, स्व-मूल्यांकन (Online Self-Assessment) (पी॰ए॰आर॰) लिखने के लिए स्मार्ट परफार्मेंस एप्रेजल रिपोर्ट रिकार्डिंग ऑनलाइन विन्डो (Smart Performance Appraisal Report Recording Online Window) प्रणाली को तैयार किया गया है. इससे किसानों (Farmer) और अधिकारियों दोनों को फायदा होगा.

प्राची वत्स
बिहार सरकार ने कृषि कार्यों को बनाया आसान
बिहार सरकार ने कृषि कार्यों को बनाया आसान

बिहार सरकार ने कृषि कार्यों को आसान बना दिया है. जी हाँ, अब अन्य विभागों के तरह कृषि विभाग को भी डिजिटल कर दिया गया है. इसका शुभारम्भ कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह द्वारा किया गया.

पटना के नए सचिवालय में बने बिहार सरकार के ई-ऑफिस कार्य प्रणाली (E-office System) ऑनलाइन, स्व-मूल्यांकन (Online Self-Assessment) (पी॰ए॰आर॰) लिखने के लिए स्मार्ट परफार्मेंस एप्रेजल रिपोर्ट रिकार्डिंग ऑनलाइन विन्डो (Smart Performance Appraisal Report Recording Online Window) प्रणाली को तैयार किया गया है.  इससे किसानों (Farmer) और अधिकारियों दोनों को फायदा होगा.

समारोह के दौरान दी गयी जानकारी (Information Provided During the Ceremony)

उद्घाटन समारोह के दौरान कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि ई-ऑफिस संचिकाओं (E-office files) का ऑनलाइन प्रारूप है, जहां संचिकाएं भौतिक तौर पर कागज के ढेर स्थान पर ना सिर्फ देखा और पढ़ा जा सकेगा, बल्कि उस पर बड़ी सरलता से बिना किसी दिक्कत से कार्य भा किया जा सकेगा. यानि पदाधिकारी और अन्य अधिकारी उस पर अपनी टिप्पणी को वैसे ही लिख-पढ़ सकेंगे, जैसे कि वो अब तक काजग और कलम के सहारे किया करते थे. ई-ऑफिस कार्य प्रणाली लागू होने से ना सिर्फ समय की बचत होगी, बल्कि कामों को लेके पारदर्शिता भी बढ़ेगी और सरकारी कार्यों के निष्पादन में सहूलियत होगी.

क्या है ई-ऑफिस कार्य प्रणाली? (What is e-office working system?)

अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि ई-ऑफिस कार्य प्रणाली लागू करने के लिए कृषि विभाग ने लगातार पदाधिकारियों एवं कर्मियों को ऑनलाइन के माध्यम से प्रशिक्षण दिया गया है. इसके साथ ही आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही हैं, ताकि समय आने पर उन्हें किसी प्रकार की कोई कठिनाइयों का सामना ना करना पड़े.

अब नहीं रुकेगा अधिकारियों का प्रमोशन (Promotion of officers will not stop now)

अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि अभी तक आनलाइन पी॰ए॰आर॰ लिखने की व्यवस्था नहीं होने से कई पदाधिकारी का समय पर प्रमोशन नहीं हो पाता है. मगर, इस प्रणाली के आने से निर्धारित समय के अंतर्गत पी॰ए॰आर॰ लिखने का कार्य सम्पन्न किया जाएगा.

चालू वित्तीय वर्ष में सिर्फ बिहार कृषि सेवा कोटि-1 के लिए प्रयोग के तौर पर प्रारम्भ किया गया है. इसके साथ ही, अगले वित्तीय वर्ष 2022-23 के पहली अप्रैल से बिहार कृषि सेवा के अन्य कोटि के लिए भी इसे विस्तारित किया जायेगा.

ये भी पढ़ें: ग्राम सड़क योजना: किसानों की सुविधा और गांवों को सड़कों से जोड़ने के लिए शुरू की योजना, पढ़िए इसकी सम्पूर्ण जानकारी

कृषि विभाग में हुआ बदलाव (Changes in agriculture department)

कृषि विभाग के सचिव एन सरवन कुमार ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज का यह महत्त्वपूर्ण कार्यक्रम कृषि विभाग के कार्य-प्रणाली में बहुत बड़ा बदलाव है.

उन्होंने यह भी कहा कि इस तकनीक का प्रयोग कुछ विभाग पहले से ही करते आ रहे हैं. कृषि विभाग की योजनाएं आनलाइन है, इसलिए मुख्यालय स्तर पर संचिकाओं का निष्पादन अब ऑनलाइन किया जायेगा. विभागीय पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिए वैश्विक महामारी कोरोना काल में ई-ऑफिस लागू होने से वर्क-फ्राम-होम करने में सहायक सिद्ध होगी.

उन्होंने बताया कि भारत के प्रधानमंत्री का सपना Digital India है. फिलहाल,स नये संचिकाओं का निष्पादन ई-ऑफिस सिस्टम के माध्यम से किया जायेगा. अगले तीन माह के अंदर पुरानी संचिकाओं का निष्पादन भी इस प्रणाली के माध्यम से किया जायेगा.

English Summary: Now farmers will be able to complete government work easily sitting at home Published on: 03 February 2022, 04:38 PM IST

Like this article?

Hey! I am प्राची वत्स. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News