MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

NABARD देगा करोड़ों रुपए का लोन, किसानों को मिलेगी आर्थिक मदद

ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को आत्मनिर्भर और किसानों की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (NABARD) की शुरुआत की गयी. इस योजना के तहत किसानों और ग्रामीण क्षेत्र के निवासी को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है. सरकार का मुख्य उद्देश्य हर नागरिक को मदद करना है.

स्वाति राव
NABARD
NABARD

ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को आत्मनिर्भर और किसानों की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (NABARD) की शुरुआत की गयी. इस योजना के तहत किसानों और ग्रामीण क्षेत्र के निवासी को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है. सरकार का मुख्य उद्देश्य हर नागरिक को मदद करना है. इसी बीच तमिलनाडु के किसानों के लिए एक अच्छी खबर है.

बता दें कि तमिलनाडु में कृषि कार्यों को बढ़ावा देने हेतु किसानों को अब नाबार्ड की तरफ से 7012 करोड़ रुपए का लोन प्रदान किया जयेगा. जिससे किसानों को अब काफी लाभ भी मिलेगा. यह पहल किसानों के हित के लिए शुरू की गयी है. किसानों के पास धन राशि की व्यवस्था ज्यादा अच्छी नहीं होती नहीं है. ऐसे में नाबार्ड की तरफ से यह पहल किसानों के लिए कारगार साबित होगी.

वहीँ, नाबार्ड, तंजावुर जिले के सहायक द्वारा मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि अगले वर्ष के दौरान फसलों के वित्तपोषण के पैमाने और उनकी खेती के संभावित क्षेत्र के आधार पर लगाया गया था. बैंक के अनुमान के मुताबिक, किसानों को 4,740.73 करोड़ रुपये का कर्ज दिया जा सकता है. इसके अलावा कृषि और उससे सम्बंधित क्षेत्रों में विकास के लिए 2,272 करोड़ रुपये के व्यय का अनुमान लगाया गया है. यह राशि अगले तीन वित्तीय वर्षों के दौरान कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में पूंजी निर्माण को बढ़ावा देने के लिए दी जाएगी.

इस खबर को पढें - खेती के लिए आसानी से मिलेगा 50 हजार का कर्ज, नाबार्ड बना रहा ये खास ग्रुप

इसके अलावा उनका कहना है कि नाबार्ड ने वित्तीय वर्ष 2022-23 में 7,012.76 करोड़ रुपये देने का प्रावधान किया है. इस लोन की सहायता से ना सिर्फ कृषि क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा, बल्कि पशुपालन संबंधई व्यवसाय जैसे – गाय पालन, बकरी पालन, कृषि मशीनीकरण, डेयरी फार्मिंग आदि को भी बढ़ावा मिलेगा. इसके साथ ही ड्रिप इरीगेशन, स्प्रिंकलर जैस पानी की बचत करने वाले उपकरण के लिए भी किसानों को प्रोत्साहित किया जायेगा.

नाबार्ड योजना का उद्देश्य (Objectives Of NABARD Scheme)

ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के बहुत कम अवसर उपलब्ध होते हैं. जो होते भी हैं, उनमें बहुत कम आमदनी होती है. ऐसे ग्रामीण कारोबारी अपना कारोबार तो बढ़ाना चाहते हैं, लेकिन उपयुक्त धन की कमी के चलते अपना बिजनेस बढ़ा नहीं पाते हैं. नाबार्ड बैंक ऐसे ही ग्रामीण कारोबारियों को आर्थिक सहयोग देने के लक्ष्य को लेकर शुरु किया गया बैंक है. नाबार्ड बैंक द्वारा समय – समय पर योजनाओं के जरिए ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले कारोबारियों की आर्थिक मदद करता है.

English Summary: nabard will give loan of Rs 7012 crore to farmers Published on: 15 January 2022, 04:57 PM IST

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News