खुल गया मुगल गार्डन, देखने को मिल रहे हैं 135 किस्म के गुलाब

रंग-बिरंगे 135 तरह के गुलाब, ट्यूलिप के साथ इस बार नया नवेला रेनिनकुलस मुगल गार्डन की खूबसूरती में चार चांद लगा रहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को राष्ट्रीय उद्यानोत्सव की शुरुआत की। इसके बाद 6 फरवरी से आम जनता के लिए भी मुगल गार्डन के दरवाजे खुल गया। दर्शक 9 मार्च तक मुगल गार्डन में घूमने का लुत्फ उठा सकेंगे।

खुलने का समय

- सुबह 9.30 से शाम 4 बजे तक

यह है खास

- 3000 पौधे कंदी फूल से तैयार रेनिनकुलस है खास

- 10000 पौधे ट्यूलिप के जो आठ किस्म में यहां है

- 135 किस्म हजारों गुलाब के पौधे

- 70 किस्म के मौसमी फूलों के पौधे

- 33 जड़ी बूटी के पौधे हर्बल गार्डन में

- 50 किस्मों की 300 बोनसाई

ये सामान न ले जाएं

- पानी की बोतल

- ब्रीफकेस, हैंडबैग, लेडीज पर्स

- कैमरा, रेडियो या ट्रांजिस्टर 

- डिब्बे, छाता या खाने का सामान

प्रवेश और निकास

आम जनता के लिए प्रवेश और निकास की व्यवस्था प्रेसीडेंट एस्टेट के गेट नंबर 35 से की गई है। यह राष्ट्रपति भवन के नॉर्थ एवेन्यू से सटा हुआ है।

ये सुविधाएं मिलेंगी

- पीने का पानी

- शौचालय

- प्राथमिक चिकित्सा

- बुजुर्गो, महिलाओं, बच्चों को रेस्ट रूम

9 मार्च को किसानों-दिव्यांगों को प्रवेश की विशेष सुविधा

मुगल गार्डन 9 मार्च को विशेष श्रेणी के लोगों जैसे किसानों, दिव्यांगों, सेना, पैरामिलिट्री जवानों और दिल्ली पुलिस को विशेष तौर पर प्रवेश देगा। इस दौरान दृष्टिबाधित लोगों के लिए टैक्टाइल गार्डन खासतौर पर खोला जाएगा। इनके लिए चर्च रोड स्थित गेट नंबर 12 से प्रवेश और निकास की व्यवस्था होगी।

इन दिनों में न जाएं

6 से 9 मार्च के बीच पड़ने वाले सोमवार, ये दिन रखरखाव के लिए तय है। वहीं, 2 मार्च को होली के मौके पर भी बंद रहेगा।

Comments