MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

फसल से जुड़ा है हमारा स्वास्थ्य, मिट्टी की गुणवत्ता पर ध्यान दें किसान: SML निदेशक कोमल शाह

MFOI 2023 के पहले सेशन में भारतीय बहुराष्ट्रीय कंपनी एसएमएल लिमिटेड के निदेशक कोमल शाह भुखनवाला ने कृषि में चुनौतियां के बारे में जानकारी साझा की. उन्होंने यह भी बताया कि किसानों की समस्याओं को हल करने में SML का अहम योगदान है.

लोकेश निरवाल
MFOI 2023 आवॉर्ड का पहला सेशन
MFOI 2023 आवॉर्ड का पहला सेशन

Mahindra Tractors Millionaire Farmer of India Award-2023: महिंद्रा ट्रैक्टर्स द्वारा प्रायोजित द मिलेनियर फार्मर ऑफ इंडिया तीन दिवसीय अवॉर्ड शो के दूसरे दिन के पहले सेशन में भारतीय बहुराष्ट्रीय कंपनी एसएमएल लिमिटेड के निदेशक कोमल शाह भुखनवाला ने MFOI 2023 के तीन दिवसीय इवेंट का दौरा किया और साथ ही उन्होंने मंच पर देश किसानों को कृषि में महिलाओं के योगदान के बारे में अपने विचारों को व्यक्त किया और साथ ही उन्होंने कृषि में चुनौतियां के बारे में जानकारी साझा की.

ऐसे में आइए एसएमएल लिमिटेड के बारे में विस्तार से जानते हैं कि कृषि के क्षेत्र में इनकी अहम भूमिका क्या रही है और साथ ही कोमल शाह भुखनवाला ने MFOI 2023 के मंच पर किसानों को लेकर क्या कुछ कहा-

किसानों की समस्याओं को हल करने में SML का अहम योगदान

एसएमएल लिमिटेड 80 से अधिक देशों से जुड़ा हुआ है. यह संगठन प्राथमिक फोकस कृषि के क्षेत्र में अनुसंधान और विकास पर देती है. ताकि किसान सशक्त बन सकें. बता दें कि एसएमएल लिमिटेड के निदेशक कोमल शाह भुखनवाला ने MFOI 2023 आवॉर्ड में कहा कि  "हमारे पास लगभग 700 पेशेवरों और किसानों का स्टाफ है, जो किसानों की समस्याओं को हल करने के लिए काम कर रहे हैं."

एसएमएल लिमिटेड के निदेशक कोमल शाह भुखनवाला
एसएमएल लिमिटेड के निदेशक कोमल शाह भुखनवाला

किसानों के समक्ष कृषि में चुनौतियां

"जलवायु परिवर्तन किसानों के सामने मुख्य चिंताओं में से एक है. दूसरा, मिट्टी का स्वास्थ्य. 40 प्रतिशत से अधिक भारतीय मिट्टी ख़त्म हो चुकी है." साथ ही देश कुपोषण की भी बड़ी चुनौती का सामना कर रहा है. "हालांकि इस उद्देश्य के लिए 40,000 करोड़ का बजट होना चाहिए, लेकिन सरकार द्वारा केवल 4000 करोड़ ही आवंटित किए गए हैं" इसके अलावा उन्होंने मिट्टी के स्वास्थ्य के बारे में भी चिंता जताई और कहा, "हम अपनी अगली पीढ़ी के लिए क्या छोड़कर जा रहे हैं? एक ख़त्म हो चुकी मिट्टी."

आगे उन्होंने कहा "अत्यधिक कीटनाशक, उर्वरक मिट्टी की जैविक स्थिति को बर्बाद करने के लिए जिम्मेदार हैं. हम किसानों को सिखाते हैं कि मिट्टी के स्वास्थ्य को कैसे सुधारा जाए. ताकि खेती सभी के लिए उपयोगी हो और स्वास्थ्य के लिए खतरा पैदा न हो."

उन्होंने आगे कहा, "हमारा स्वास्थ्य हमारी फसल से जुड़ा हुआ है, हालांकि, पिछले 100 वर्षों में मिट्टी का स्वास्थ्य इतना खराब हो गया है कि हमें कोविड -19 के चुनौतीपूर्ण समय के दौरान जिंक जैसे बुनियादी पोषक तत्व के लिए स्वास्थ्य पूरक लेना पड़ रहा है.''

ये भी पढ़ें: MFOI आवॉर्ड 2023 का दूसरा दिन आज, कृषि में महिलाओं के योगदान सहित इन मुद्दों पर होगी चर्चा

उन्होंने यह कहते हुए सत्र का समापन किया, "एसएमएल मिट्टी के स्वास्थ्य को पढ़ने और समझने के लिए महिला किसानों के साथ मिलकर काम कर रही है और पर्यावरण को संरक्षित करने के लिए हर संभव प्रयास करने की कोशिश कर रही है."

English Summary: mfoi 2023 sml komal shah bhukhanwala, director of the indian multinational company sml limited development of agricultural sector Published on: 07 December 2023, 12:44 PM IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News