News

कृषि के महारथियों का सम्मान, महिंद्रा समृद्धि इंडिया एग्री लीडरशिप अवार्ड्स 2019

डॉ.ई.ए सिद्दिक को कृषि के क्षेत्र में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए महिंद्रा समृद्धि कृषि शिरोमणि सम्मान (लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड) 2019 से सम्मानित किया गया. यह सम्मान उन्हें धान की फसल (बासमती और गैर-बासमती) दोनों की उत्पादकता बढ़ाने के लिए उनके द्वारा दिये गये योगदान हेतु दिया गया.

हमारे कृषक समुदाय द्वारा दिया गया योगदान इस आधुनिक दौर की कृषि को दर्शाता है, जिसकी खुशी हम हमारे वार्षिक सम्मानों के जरिए मनाते हैं. महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रबंध निदेशक डॉ. पवन गोयंका  ने कहा कि महिंद्रा एग्री विलेज (एमएवी) प्रोग्राम के तहत, हमने 50 से अधिक गांवों के साथ मिलकर काम किया है. हमारी प्रेरणा पहल ने कृषि की कठिनाई को कम करने और ज्ञान एवं आवश्यक क्षमताओं के वितरण हेतु जेंडर-न्यूट्रल कृषि उपकरणों को लाकर 40 से अधिक गांवों की लगभग 2000 महिलाओं को सशक्त बनाया है. हमारा मानना है कि ये हस्तक्षेप परिवर्तनकारी हैं और इनसे फार्मिंग 3.0 को आवश्यक गति मिलेगी, जिससे देश में कृषि प्रौद्योगिकी समृद्धि बढ़ेगी.

एमएसआईएए 2019 के लिए देश के कृषि/गैर-कृषि श्रेणी से 63,758 नामांकन प्राप्त हुए, जबकि पिछले वर्ष 62,916 नामांकन प्राप्त हुए थे. अब तक  इन अवार्ड्स में 3.8 लाख से अधिक किसान हिस्सा ले चुके हैं.

नकद पुरस्कार

राष्ट्र-स्तरीय नकद पुरस्कार (व्यक्तियों एवं संस्थानों के बारे में) - 2 लाख 11 हज़ार रुपये.

क्षेत्रीय नकद पुरस्कार, व्यक्तियों के लिए - 51 हजार रुपए.

उपविजेता नकद पुरस्कार (संस्थानों के लिए) - 1 लाख 11 हजार रुपए.

कृषि शिरोमणि सम्मान - 5 लाख रुपए.

महिंद्रा समृद्धि इंडिया एग्री लीडरशिप अवार्ड्स 2019 के राष्ट्रीय विजेता निम्नलिखित हैं :

महिंद्रा समृद्धि कृषि सम्राट सम्मान

5 एकड़ से कम जमीन वाले 

फार्मर ऑफ द ईयर अवार्ड (पुरूष) -   किशन सुमन सुगना बाई

कोटा, राजस्थान

महिंद्रा समृद्धि कृषि सम्राट सम्मान

5 से 20 एकड़ जमीन वाले

फार्मर ऑफ द ईयर अवार्ड (पुरूष) -   मिलन सिंह विश्वकर्मा

महासमुद्र, छत्तीसगढ़

महिंद्रा समृद्धि कृषि सम्राट सम्मान

- 20 एकड़ से अधिक जमीन वाले 

फार्मर ऑफ द ईयर अवार्ड (पुरूष) -   जितेन्द्र पटीदार

रतलाम,  मध्य प्रदेश

महिंद्रा समृद्धि कृषि प्रेरणा सम्मान

फार्मर ऑफ द ईयर अवार्ड (महिला) - तालचुआंगांग हालम

उत्तरी त्रिपुरा, त्रिपुरा

महिंद्रा समृद्धि कृषि युवा सम्मान

फार्मर ऑफ द ईयर अवार्ड (युवा) - अनिमा मजूमदार शंकर

यू. दीनाजुर,  पश्चिम बंगाल

महिंद्रा समृद्धि कृषि यंत्रीकरण सम्मान - रोशन लाल विश्वकर्मा

नरसिंहपुर,  मध्य प्रदेश

महिंद्रा समृद्धि कृषि संस्थान सम्मान

- सार्वजनिक क्षेत्र के संगठन को सम्मान     आईसीएआर - इंडियन इंस्टीट्युट ऑफ हॉर्टीकल्चर रिसर्च

बेंगलुरू, कर्नाटक

महिंद्रा समृद्धि कृषि शिक्षा सम्मान

- कृषि विश्वविद्यालयों के लिए सम्मान      तमिलनाडु कृषि विश्वविद्यालय

कोयम्बतूर,  तमिलनाडु

महिंद्रा समृद्धि कृषि सहयोग सम्मान

 - एनजीओ/एसएचजी के लिए सम्मान -      भूमगादी महिला कृषक प्रोड्यूसर कं. लि.

बस्तर,  छत्तीसगढ़

महिंद्रा समृद्धि कृषि विज्ञान केंद्र सम्मान

- केवीके ऑफ द ईयर का सम्मान -   कृषि विज्ञान केंद्र - आरएएसएस

चित्तूर,  आंध्र प्रदेश

महिंद्रा समृद्धि कृषि शिरोमणि सम्मान

- लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड -      डॉ. ई.ए.सिद्दिक

हैदराबाद,   तेलंगाना

भारत के प्रमुख ट्रैक्टर निर्माता और 20.7 बिलियन अमेरिकी डॉलर वाले महिंद्रा समूह के घटक, महिंद्रा एंड महिंद्रा के फार्म इक्विपमेंट सेक्टर ने महिंद्रा समृद्धि इंडिया एग्री अवार्ड्स (एमएसआईएए) 2019 के विजेताओं की आज घोषणा की. वर्ष 2011 में शुरू किया गया, महिंद्रा समृद्धि इंडिया एग्री अवार्ड्स किसानों और कृषि संस्थानों को भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ कहे जाने वाले, कृषि के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय एवं सोद्देश्य योगदानों को सम्मानित करने के लिए दिया जाता है.

नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, माननीय श्री अमिताभ कांत इस सम्मान समारोह के मुख्य अतिथि थे. श्री संजय अग्रवाल, सचिव, कृषि विभाग, सहकारी एवं कृषक कल्याण, भारत सरकार भी इस अवसर पर मौजूद रहे.

सम्मान समारोह में, महिंद्रा ने फार्मिंग 3.0 के प्रति अपनी वचनबद्धता दोहराई. फार्मिंग 3.0, नवाचार और प्रौद्योगिकी द्वारा परिभाषित कृषि में नया दौर है. वर्ष 2017 में लॉन्च किया गया, फार्मिंग 3.0 उन्नत कृषि तकनीकों पर आधारित है और यह कृषि तकनीकी समृद्धि को आगे बढ़ाने हेतु समेकित प्रयास के लिए कृषि क्षेत्र के विभिन्न शेयरधारकों की सहक्रियाओं को प्रभावी तरीके से उपयोग में लाता है. फार्मिंग 3.0 के प्रमुख घटकों में स्मार्ट फार्म मशीनरी, प्रेसिजन फार्मिंग, डिजिटल प्लेटफॉर्म, कस्टम हायरिंग सर्विसेज और कनेक्ट विद द इकोसिस्टम शामिल हैं.

कई महिंद्रा डीलरशिप्स को समृद्धि सेंटर्स में बदला गया है, जहां किसानों को आसानीपूर्वक तकनीकी जानकारी दी जा रही हैं, संकर बीजों, मृदा एवं सिंचाई जल परीक्षण सुविधाओं, डेमो फाम्र्स, फाइनेंस एवं इंश्योरेंस, इंटरनेट अपडेट्स के अलावा ट्रैक्टर्स एवं उन्नत इंप्लिमेंट्स के बिक्री एवं सर्विस से जुड़ी जानकारी प्रदान की जा रही है.



Share your comments