1. ख़बरें

लॉकडाउन से छिन गया रोजगार तो खुलते ही शुरू करें मटका कुल्फी का व्यापार

लॉकडाउन के कारण बहुत से छोटे व्यपारियों, खोमचे वालों एवं दिहाड़ी मजदूरों का काम छिन गया है. उनका कहना यही है कि कोरोना से बचाव हो भी जाता है तो पेट की भूख को किस तरह शांत किया जाए. रोजगार जाने के बाद आने वाले दिनों में जीवन का निर्वाह करना मुश्किल जान पड़ता है. ऐसे में आज हम आपको एक खास तरह के व्यापार के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके सहारे बहुत ही कम लागत में अच्छा पैसा कमा सकते हैं.

रोजगार का अच्छा साधन है मटका कुल्फी

अगर आप भी लॉकडाउन के समाप्त होने के बाद किसी काम की तलाश में हैं, तो आपके लिए मटका कुलफी बनाने का बिजनेस फायदेमंद साबित हो सकता है. पूरी योजना के साथ अगर इस काम को किया जाए तो एक बार फिर आपके आर्थिक हालात ठिक हो सकते हैं.

क्या है मटका कुल्फी

मटका कुल्फी से आप अनजान नहीं ही होंगें. बच्चों से लेकर बूढ़ों तक, कौन इसे पसंद नहीं करता. आज इसी होममेड कुल्फी को हम नये अवतार में मार्केट में उतार सकते हैं.

बनाने के लिए सामग्री

इसे बनाने के लिए बहुत खास चीजों की जरूरत नहीं है. आपको बस कुछ उत्पादों को खरीदने की जरूरत पड़ेगी. यहां हम सामग्रियों की संख्या बस आपके सिखने के लिहाज से बता रहे हैं. व्यापार किस स्तर पर करना है इसको ध्यान में रखते हुए आप सामग्रियों की संख्या बढ़ा सकते हैं.

इसे बनाने के लिए 3 कप दूध, एक कप क्रीम और दो टेबलस्पून मिल्क पाउडर की जरूरत पड़ेगी. इसके साथ ही स्वाद के लिए एक एक टीस्पून बादाम, पिस्ता और काजू की आवश्यकता पड़ेगी. मिठास के लिए 1 कटोरी चीनी और 4 से 5 केसर का उपयोग रेशों के रूप में कर सकते हैं.

इस तरह से बनाएं

एक पैन में दूध गर्म करते हुए उसमें क्रीम और मिल्क पाउडर मिलाएं. इस दौरान दूध को लगातार हिलाते रहें. ध्यान रहे कि इस काम को न तो अधिक तेज आंच पर करना है और न ही बहुत कम आंच पर. इसके बाद इसमें केसर डालकर 10 मिनट तक दूध को पकने दें. दूध के गाढ़े होने के बाद इसमें चीनी डालें और जब दूध एक दम क्रीमी ठंडा होने दं. आपकी मटका मलाई कुल्फी बनकर पूरी तरह से तैयार है.  

English Summary: lockdown: you can start matka kulfi making business after lockdown for good earning

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News