1. ख़बरें

loan Scheme: महिलाओं को बिना ब्याज के मिल रहा 5 लाख रूपये तक का लोन, जानें इस खबर की सच्चाई

Viral message

इस कोरोना महामारी में लगे लॉकडाउन में सरकार लोगों को सुरक्षित रखने के लिए कई तरह योजनाएं निकाल रही है ताकि लोगों को आर्थिक तंगी से ना जूझना पड़े और घरों से ज्यादा बाहर भी न निकलना पड़े पर कई शरारती तत्व सोशल मीडिया पर झूठी जानकारियां और सरकारी योजनाओं की अफवाह फैला कर लोगों को गुमराह कर रहें है.ऐसा ही इन दिनों एक मैसेज सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. जिसमें लिखा है कि पीएम धन लक्ष्मी योजना (Pradhanmantri Dhan Laxmi Yojana)  के तहत केंद्र सरकार महिलाओं को 5 लाख तक का लोन बिना किसी ब्याज पर दे रही है.Social Media पर इस मैसेज के आने के बाद से ये इतना वायरल हो रहा है कि लोग इस पर खूब चर्चा कर रहें है और दूसरों के साथ शेयर कर रहे हैं.

PIB ने इस मैसेज का किया खंडन  

हालांकि इस वायरल मैसेज का प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (Press Information Bureau) जिसे  PIB भी कहा जाता है.  ने इसका खंडन करते हुए कहा है कि सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही  है जिसमें महिलाओं को 5 लाख तक का लोन बिना किसी ब्याज दर पर दिया जाए. यह पूरी तरह से झूठा मैसेज है.

Money

जानें क्या कहा है वायरल मैसेज में

इस वायरल हो रहे मैसेज में ये दावा किया गया है कि पीएम धन लक्ष्मी योजना (PMDLY) को मुख्य रूप से देश की उन महिलाओं को ध्यान में रखकर शुरू की गई है जोकि खुद का व्यवसाय, स्वरोजगार इत्यादि शुरू कर आत्मनिर्भर बनने की तरफ  कदम बढ़ाना चाहती हैं. इसलिए सरकार उन्हें इस योजना के तहत 5 लाख रुपए तक का लोन प्रदान करेगी.

नोट - इस मुश्किल समय में भी साइबर क्राइम करने वाले अपनी हरकतों से बाज नहीं रहें है और लोगों के साथ ऑनलाइन फ्रॉड कर रहें है. इसलिए जितना हो सके सतर्क रहें सुरक्षित रहें.

ये खबर भी पढ़े: PM- Shishu Vikas Yojana में आवेदन कर बच्चों को मिलेगा कई सुविधाओं का लाभ, ऐसे करें आवेदन

English Summary: Loan Scheme: Women are getting loans up to 5 lakh rupees without interest, know the truth of this news

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News