1. ख़बरें

सूखे की मार झेल रहे जैसलमेर पर टिड्डी का प्रकोप

किशन
किशन

सूखे की मार झेल रहे बाड़मेर, जैसलमेर सहित दूसरे समीपवर्ती जिलों के किसानों के लिए बेहद ही चिंताजनक खबर है. क्योंकि जैसलमेर जिले के पोकरण फिल्ड फायरिंग रेंज स्थित काहला और लोहार की ग्राम पंचायत के मंगलियों की छाणी के पास बड़ी संख्या में टिड्डी के दल देखे गए है. ऐसे में जायद के साथ-साथ खरीफ फसल पर भी पूरी तरह से संकट गहरा सकता है.हालांकि इस साल सूखे के चलते किसनों ने जायद पसलों की बुवाई नहीं की है. लेकिन नियंत्रण के अभावमें बड़ा नुकसान भी संभव है. गौरतलब है कि टिड्डी दल नजर आने के साथ ही प्रशासन और किसानों में अलर्ट को जारी कर दिया गया है. वही नियंत्रण के लिए टिड्डी प्रतिरक्षा और निरोधक विभाग के साथ-साथ कृषि विभाग के अधिकारियों ने मैदान संभालना तेजी से शुरू कर दिया है।

फिर दिखा टिड्डी दल

कृषि अधिकारी मदनसिंह चंपावत ने बताया कि पोकरण फिल्ड फायरिंग रेंज में स्थित पुराने गौर आबाद काहला गांव और लौहार की ग्राम पंचायत के मंगलियोंकी छाणी में टिड्डी दल को देखा गया है। जैसलमेर, फलोदी, नागौर, बाड़मेर, जालौर आदि के टीमों के अधिकारी के साथ अभिलेख निरीक्षकों ने भी इस क्षेत्र का दौरा किया है. साथ ही मौके पर पहुंचकर काहला और मंगलियों की ढाणी में जमीन पर लगी घास, झाड़ियों आदि पर चिड्डी दल पर स्प्रे किया.साथ ही उन्होंने ग्रामीणों की बैठक लेकर उन्हें मादा-नर टिड्डी की पहचान करवाई और टिड्डी दल दिखाई देने पर इसकी सूचना तत्काल सूचना प्रशासन, पटवारी, आरआई और कृषि पर्य़वेक्षक आदि को देने की बात कही, ताकि ठीक समय रहते इसका उचित नियंत्रण किया जा सकें.

पशुपालकों को हिदायत

टिड्डी प्रतिरक्षा निरोधक दल के अधिकारियों पशपालकों को प्रभावित क्षेत्र में पशु नहीं चराने की सलाह दी जा रही है. साथ ही अधिकारियों का कहना है कि मरू वनस्पति पर कीटनाशक का छिड़काव किया हुआ है. ऐसे में चराई के दौरान पश कीटनाशक स्प्रे की हुई वनस्पति को खा लेता है, तो उनकी मौत अथवा बीमार हो जाने से इंकार नहीं किया जा सकता है.

पाक से आया है यह टिड्डी दल

कृषि विभाग के अधिकारियों के अनुसार चिड्डी दल की आमद पाकिस्तान से हुई है. पाकिस्तान के रास्ते से टिड्डी दल ने प्रवेश कर रामदेवरा ग्राम पंचायत के गैर आबाद गलर गांव के आसापसा डेरा डाला.किसानों से सूचना मिल जाने के बाद जैसलमेर, जोधपुर, जालौर, फलोदी, पाली, बीकानेर, नागौर से कृषि और टिड्डी प्रतिरक्षा निरोधक विभाग के अधिकारी अपनी टीम, मशीन और साजो सामान के साथ मौके पर पहुंच गए. उन्होंने टिड्डी के दल पर स्प्रे कर उन्हें खत्म करने की कार्रवाई को अंजाम देना शुरू कर दिया है।

English Summary: Ladders come from Pakistan to produce products in Jaisalmer

Like this article?

Hey! I am किशन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News