आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. ख़बरें

Kisan Diwas 2020: झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने दी किसान भाईयों को बधाई, कहा- हरा-भरा खेत खलिहान, कृषक हमेशा हमारी शान

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Agriculture Minister Badal Patil

Agriculture Minister Badal Patil

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए तीन कृषि कानूनों (New Farm Law) के खिलाफ किसानों की लड़ाई जारी है. पिछले 28 दिनों से किसान दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं. इस बीच आज पूरा देश ‘राष्ट्रीय किसान दिवस’ (National Farmers Day) मना रहा है. इस अवसर झारखंड़ के कृषि, पशुपालन और सहकारिता मंत्री बादल पत्रलेख (Minister of Agriculture, Animal Husbandry and Cooperation of Jharkhand Badal Patralekh) ने अन्नदाताओं को राष्ट्रीय किसान दिवस (National Farmers Day) की बधाई दी है.

कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने दी बधाई

कृषि मंत्री बादल पत्रलेख(Agriculture Minister Badal Patil) ने ट्विटर लिखा है कि हरा-भरा खेत खलिहान, कृषक हमेशा हमारी शान. मेरे सभी किसान भाइयों/अन्नदाताओं को किसान दिवस के अवसर पर बहुत-बहुत बधाई और हार्दिक शुभकामनाएं.

आपको बता दें कि झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख (Agriculture Minister Badal Patil) समय-समय पर किसानों के हित में हर संभव प्रयास करते रहते हैं. झारखंड सरकार की तरफ से किसानों के लिए कई योजनाएं भी संचालित की गई हैं. इस योजनाएं की मदद से किसान काफी आसानी से खेतीबाड़ी कर पाते हैं. जैसा कि सभी जानते हैं कि देश की राजधानी दिल्ली में नए तीन कृषि कानून के खिलाफ पंजाब और हरियाणा के किसान आंदोलन (Kisan Andolan) कर रहे हैं. ऐसे में झारखंड की सरकार ने भी किसानों का समर्थन किया है. झारखंड सरकार का कहना है कि केंद्र सरकार कुछ लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए 125 करोड़ लोगों को नर्क में धकेलना उचित नहीं है.

राष्ट्रीय किसान दिवस (National Farmers Day)  के अवसर पर भारतीय किसान यूनियन ने ऐलान किया है कि आज हम एक वक्त का खाना नहीं खाएंगे. इसके साथ ही किसान संगठनों ने लोगों से अपील की है कि वह भी आज दोपहर का भोजन न पकाएं. बता दें कि हर साल 23 दिसंबर को राष्ट्रीय किसान दिवस मनाया जाता है. इस दिन को देश के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के जयंती के रूप में मनाया जाता है.

देश के किसानों की स्थिति को सुधारने मेंचौधरी चरण सिंह का बहुत योगदान रहा है. वह एक ऐसे किसान नेता थे, जिन्होंने देश की संसद में किसानों के लिए आवाज बुलंद की. यही कारण है कि सरकार ने साल 2001 में उनके जन्मदिवस को ‘राष्‍ट्रीय किसान दिवस’ के रूप में मनाने का ऐलान किया था.

English Summary: Jharkhand Agriculture Minister Badal Patralekha congratulated the farmers on Farmers Day

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News