MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

International Yoga Day 2022 Big Update: 21 जून का दिन बना वैश्विक त्योहार, योग ने मचाई दुनिया भर में धूम

पीएम नरेंद्र मोदी ने आज (21 जून को) अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर कर्नाटक के मैसूर पैलेस मैदान में एक सामूहिक योग कार्यक्रम का नेतृत्व किया, जिसका विषय 'मानवता के लिए योग' था.

रुक्मणी चौरसिया
International Day of Yoga 2022 (Yoga For Humanity)
International Day of Yoga 2022 (Yoga For Humanity)

हर साल योग दिवस (Yoga Day) को देश में बड़े जोरो-शोरों ने मनाया जाता है. 21 जून का दिन भारत में योग की सदियों पुरानी प्रथा के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए समर्पित है. इसी संदर्भ में केंद्रीय आयुष मंत्रालय ने, मानवता के लिए योग (Yoga For Humanity) को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2022 के लिए विषय के रूप में रखा है. बता दें कि, इसके आठवें संस्करण का आयोजन (8th International Yoga Day) 21 जून को कर्नाटक के मैसूर में हो चूका है.

इसी कड़ी में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 जून को प्रतिष्ठित मैसूर पैलेस की पृष्ठभूमि में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मुख्य कार्यक्रम का नेतृत्व करते हुए कहा कि “योग हमारे राष्ट्रों व विश्व में शांति लाने के साथ हमारे ब्रह्मांड में भी शांति लाता है."

वहीं दूसरी ओर, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर लोगों को बधाई देते हुए, राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा, "योग मानव के लिए एक उपहार है और यह स्वास्थ्य कल्याण, मन, शरीर और आत्मा को संतुलित करने के लिए एक समग्र दृष्टिकोण है. इन्होंने सभी से योग को अपने दैनिक जीवन का हिस्सा बनाने और इसके लाभों का अनुभव करने पर ज़ोर दिया है.

इतिहास में पहली बार हुआ ये काम (Yoga Day Important Points)

आजादी का अमृत महोत्सव (Azadi ka Amrit Mahotsav) में इस साल के योग दिवस पर कुछ अलग देखने को मिला है. दरअसल, मोदी सरकार के 75 मंत्री, देश की 75 ऐतिहासिक और सांस्कृतिक जगहों से योग करते हुए नज़र आए हैं.  

कोरोना ने सिखाई एकता (Covid 19 and Yoga)

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पीएम मोदी ने कहा कि, इस वर्ष की थीम को बहुत विचार-विमर्श और परामर्श के बाद चुना गया था और यह उचित रूप से दर्शाता है कि कैसे योग ने कोविड -19 के दौरान कष्टों को कम करने में मानवता की सेवा की है. उन्होंने कहा कि, कोविड के दौरान योग सभी लोगों को एक साथ लाने और दुनिया भर में एकता की भावना को बढ़ावा देने में सक्षम रहा है. वहीं, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले साल (Yoga Theme for 2021) के आयोजन की थीम 'योग फॉर वेलनेस' (Yoga for Wellness) थी.

पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल पर आने वाले योग दिवस को लेकर कहा था कि "बीते कुछ वर्षों में योग को दुनियाभर में अद्भुत लोकप्रियता मिली है. नेता, सीईओ, खिलाड़ी और कलाकार सहित कई क्षेत्रों के लोग योग का नियमित अभ्यास किया करते हैं. वे अक्सर इस बारे में बताते भी हैं कि कैसे उन्हें इससे लाभ पहुंचा है."

75 मंत्री, 75 जगह योग (75 Ministers will do yoga in 75 places)

होम मिनिस्टर अमित शाह नासिक के ज्योतिर्लिंग त्रिम्बकेश्वर मंदिर परिसर से योग का प्रचार किया. डिफेन्स मिनिस्टर राजनाथ सिंह तमिलनाडु के कोयंबटूर, फॉरेन मिनिस्टर एस. जयशंकर दिल्ली के लोटस टेंपल, कैबिनेट मंत्री नितिन गडकरी नागपुर के जीरो माइल स्टोन, फाइनेंसियल मिनिस्टर निर्मला सीतारमण दिल्ली के जंतर मंतर, धर्मेंद्र प्रधान हिमाचल के कांगड़ा किला, अनुराग ठाकुर हिमाचल के नालगढ़ किले से योग दिवस का प्रचार किया. इसके अलावा, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी लखनऊ, भूपेंद्र यादव अयोध्या, नरेंद्र सिंह तोमर मध्य प्रदेश के खजुराहो, अर्जुन मुंडा झारखंड के रांची, पीयूष गोयल मुंबई के मरीन ड्राइव, प्रह्लाद जोशी कर्नाटक के हंपी, नारायण राणे पुणे, मुख्तार अब्बास नकवी यूपी के फतेहपुर सीकरी फोर्ट, वीरेंद्र कुमार मध्य प्रदेश के अमरकंटक से योग महोत्सव को धूम-धाम से प्रचार किया.

सभी वर्गों के लिए हुआ ख़ासा इंतज़ाम (Yoga Day 2022 Special)

विषय पर ध्यान केंद्रित करते हुए, मंत्रालय ने विशेष रूप से विकलांग, ट्रांसजेंडर, महिलाओं और बच्चों के लिए विशेष कार्यक्रम तैयार किया. ध्यान देने वाली बात यह है कि स्कूलों में योग शिक्षा के अभिन्न अंग वाले मानवीय मूल्यों पर भी ध्यान दिया गया है. इसके अतिरिक्त, कॉमन सर्विस सेंटर के तहत लाखों ग्रामीणों ने भी इसमें हिस्सा लिया था.

इस साल के आयोजन में कई चीज़ें पहली बार देखने को मिली जिसमें अभिनव 'गार्जियन रिंग' कार्यक्रम शामिल था. इसके अलावा, इसमें विभिन्न देशों के लोगों की भागीदारी हुई और रिले योग का सीधा प्रसारण भी किया गया.

कब शुरू हुआ अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (First Time When Yoga Day is Celebrated)

2014 में 11 दिसंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने घोषणा की थी कि हर साल 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाएगा. ऐसा तब हुआ जब भारत के माननीय प्रधानमंत्री ने 27 सितंबर, 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में संबोधित करते हुए 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को अपनाने का उल्लेख किया था.

21 जून 2022 को मनाया जाएगा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day 21st June Reason)

योग शरीर, मन और आत्मा का 5,000 साल पुराना अभ्यास है. किसी के शरीर और मन को बदलने के उद्देश्य से भारत में उत्पन्न होने के कारण, हिंदुओं की इस दार्शनिक परंपरा ने काफी प्रमुखता प्राप्त की है. यह प्राचीन भारतीय परंपरा से मानव जाति के लिए एक अनमोल उपहार है. ऐसा इसलिए है क्योंकि योग मानव के मन, शरीर, विचारों और कार्यों को नियंत्रित करना सिखाता है साथ ही मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य स्थापित करता है. यह प्रकृति, दुनिया और खुद के साथ एकता की भावना विकसित करने की एक प्रक्रिया है.

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का इतिहास (Yoga Day History)

21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने के लिए चुना गया है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि इस दिन, पहले योगी या आदियोगी ने दक्षिण की ओर रुख किया और सप्तऋषियों के रूप में जाने जाने वाले सात ऋषियों को देखा. सप्तर्षि उनके पहले शिष्य थे जिन्होंने योग के विज्ञान को दुनिया के विभिन्न हिस्सों में फैलाने में योगदान दिया था. इसलिए इस दिन का मानवता के इतिहास में बहुत महत्व है.

योग के प्रकार (Best Ways to do Yoga)

योग कई प्रकार के होते हैं, जिनमें से प्रत्येक के अपने स्वास्थ्य लाभ होते हैं. योग हमारे लचीलेपन, संतुलन और ताकत को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है. यह तनाव और चिंता को कम करने में भी मदद कर सकता है.

योग का अभ्यास दिन या रात के किसी भी समय किया जा सकता है, जिससे यह आराम और तनाव को दूर करने का एक शानदार तरीका बन जाता है. इसके अलावा, विभिन्न प्रकार के योगों के शरीर के विभिन्न भागों के लिए विशिष्ट लाभ होते हैं. योग का सत्र गर्दन, कंधे, पीठ और कूल्हों में तनाव को कम करने में मदद कर सकता है.

English Summary: international yoga day 2022 theme in hindi, venue in india Published on: 13 June 2022, 03:16 PM IST

Like this article?

Hey! I am रुक्मणी चौरसिया. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News