1. ख़बरें

राजस्थान का एक ऐसा गांव, जहां कोरोना संक्रमण का एक भी मामला नहीं आया सामने, जानें क्या है वजह

सचिन कुमार
सचिन कुमार

corona free village

ऐसे आलम में जब पूरी दुनिया कोरोना वायरस की गिरफ्त में है. शायद ही ऐसा कोई सूबा है, जो कोरोना की जद में आने से बचा हो. विकराल होता कोरोना बेहद तेजी लोगों को अपनी गिरफ्त में लेनेके लिए बेकरार है. यकीनन, अगर यह सिलसिला यूं ही जारी रहा तो उसकी ये बेकरारी मानव समुदाय को बर्बादी के कागार पर लाकर खड़ा कर देगी. आप यह जानकर दंग रह जाएंगे कि विगत गुरुवार को देश में 3 लाख 30 हजार मामले आए हैं, जिसके बाद एक बार फिर समस्त मानव समुदाय खौफ के आलम में जीने को विवश हो चुका है. खैर, यह तो रही हालिया सुरत-ए-हाल की बात, लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी त्राहिमाम-त्राहिमाम करते लोगों के बीच में एक ऐसी भी जगह है, जहां अभी तक एक भी कोरोना का मामला सामने नहीं आया है. इससे भी ज्यादा हैरत की बात है कि यह जगह कहीं और नहीं, बल्कि भारत में ही है.

जी हां...भारत की वर्तमान स्थिति को देखकर आपके लिए यह विश्वास करना मुश्किल हो सकता है कि ऐसे में जब पूरे देश में कोरोना का कहर अपने चरम पर पहुंच चुका हैं, तो भला भारत में उस जगह की कल्पना कैसे की जा सकती है, जहां कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया है. आपको यह जानकर हैरानी हो सकती है कि जब से भारत में कोरोना ने एंट्री ली है, तब से लेकर अब तक यहां कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया है.

हम जिस जगह की बात कर रहे हैं, वो राजस्थान का जिला सीकर का सुखपूरा गांव है. आपको यह जानकर हैरत होगी कि जब से कोरोना की एंट्री हुई है, तब से लेकर अब तक यहां कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया है. भले ही पूरी दुनिया कोरोना के कहर से त्राहिमाम त्राहिमाम कर रही हो, लेकिन सुखपुरा गांव के लोगों को इससे कोई फर्क न पड़ा और  न ही अभी पड़ रहा है. एक ओर जहां पूरी दुनिया में लोग कोरोना के कहर का शिकार होकर मौत को गले लगा चुके है, मगर सुखपुरा गांव अपने आपको कोरोना के कहर से महफूज रखा हुआ है. 

बेशक, यह पूछना अब स्वभाविक है कि जब अमेरिका और फ्रांस जैसे विकसित देश भी कोरोना के कहर के आगे घुटना टेक चुके हैं, तो भला राजस्थान के इस गांव ने ऐसाक्या किया कि पूरी दुनिया को खौफजदा कर देने वाले कोरोना की इस गांव के आगे एक नहींचली. भले ही कोरोना ने सभी लोगों के चेहरे की मुस्कान छीन ली हो. भले ही कोरोना के कहर के चलते लोगों की आमद से गुलजार रहने वाली गलियां आज वीरान हो चुकी हो, मगर कोरोना का कहर से इस गांव का बाल तक बांका नहीं कर सका.

इसकी वजह पूछने पर यहां के बाशिंदेचेहरे पर मुस्कुराहट का लबादा ओढ़कर कहते हैं कि कोरोना की एंट्री होने से लेकर अब तक हम उन सभी नियमों का पालन करते हुए आए हैं, जिसका अनुपालन करने की केंद्र सरकार ने सख्त हिदायत दी है. हमने गांव में बाहर से आने वाले हर शख्स का सख्ती से कोरोना टेस्ट किया है. बाहर से आने वाले किसी भी शख्स से हमने ऐसे ही किसी गतिविधि में शामिल होने की इजाजत नहीं दी, पहले हमने उसे आइसोलेट किया.

. इसके बाद उसका कोरोना टेस्ट किया. सभी लोगों ने मास्क पहनने का सख्ती से पालन किया. अगर किसी ने किसी भी नियम का उल्लंघन किया तो उसके खिलाफ उचित कार्रवाई की गई, ताकि लोग कोरोना के नियमों का सख्ती से पालन करें, जिसका ही यह नतीजा है कि अब तक यहां कोरोना क एक भी मामला सामने नहीं आया है.

English Summary: in sukhpura village in body infected by corona virus

Like this article?

Hey! I am सचिन कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News